NewsUttar Pradesh

IAS अनूप चंद्र पांडे होंगे यूपी के अगले मुख्य सचिव, योगी कैबिनेट का फैसला

वर्ष 1984 बैच के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी डॉ. अनूप चंद्र पांडेय यूपी के नए मुख्य सचिव होंगे। नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग ने उनकी नियुक्ति के आदेश बुधवार की शाम को जारी कर दिए हैं।

हिमानी बाजपेई शुक्ला
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के नए मुख्य सचिव के नाम को लेकर कयासों का दौर समाप्त हो गया है। अनूप चंद्र पांडेय यूपी के नए मुख्य सचिव होंगे। इस पर बुधवार शाम आदेश जारी कर दिया गया है। अनूप चंद्र पांडेय 1984 बैच के आईएएस अफसर हैं। दूसरी ओर वर्तमान मुख्य सचिव राजीव कुमार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट की बैठक में विदाई देते हुए कहा कि उन्हें राज्य सरकार किसी न किसी रूप में उनकी सेवाएं लेती रहेगी।

नियुक्ति विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार राजीव कुमार प्रथम 30 जून को मुख्य सचिव पद से रिटायर होंगे। उनके रिटायर होने के दोपहर से डॉ. पांडेय का मुख्य सचिव पद पर नियुक्ति का आदेश प्रभावी होगा। आदेश की खास बात यह है कि वे अपने नए पद के साथ वर्तमान पदों अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास व संस्थागत वित्त विभाग तथा अध्यक्ष ग्रेटर नोएडा का पदभार भी अग्रिम आदेश तक अतिरिक्त रूप में देखते रहेंगे। इवेस्टर्स समिट को सफलता पूर्वक कराने में उनकी विशेष भूमिका रही थी। बड़े पैमाने पर निवेश के अवसर पैदा किए गए और उद्योगपतियों को सहूलितयें दी गईं। माना जा रहा है कि उनकी अच्छी कार्यशैली को देखते हुए ही यह फैसला किया गया है।

डॉ. पांडेय अपने दर्जन भर से ज्यादा वरिष्ठ अधिकारियों को पीछे छोड़ते हुए मुख्य सचिव बने हैं। साफ सुथरी छवि, शांत स्वभाव और मृदुभाषी डा. पांडेय चंडीगढ़ पंजाब के मूल निवासी हैं। वे फरवरी, 2019 में रिटायर होंगे। उन्होंने बीई मैकेनिकल, एमबीए और पीएचडी तक शिक्षा ग्रहण की है। वे पूर्व में भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह के सूचना निदेशक के अलावा प्रमुख सचिव वित्त, प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा व अन्य महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। केंद्र सरकार में भी प्रतिनियुक्ति पर रहे हैं।

राजीव कुमार को मिलेगा नया पद
डॉ. अनूप चंद्र पांडेय की ताजपोशी से पहले वर्तमान मुख्य सचिव राजीव कुमार प्रथम को कैबिनेट में भावभीनी विदाई दी गई। यह उनकी मुख्य सचिव-कैबिनेट सचिव के रूप में आखिरी कैबिनेट बैठक थी। राजीव कुमार ने सहयोग के लिए मुख्यमंत्री सहित पूरी कैबिनेट का आभार व्यक्त किया। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी सेवाओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे चाहेंगे कि राजीव कुमार की सेवाएं किसी न किसी रूप में यूपी को मिलती रहें। ऐसा कहकर मुख्यमंत्री ने उनको कोई नया पद दिए जाने के संकेत दिए। सूत्रों के अनुसार अब उनको मुख्य सलाहकार या रेरा का अध्यक्ष बनाया जा सकता है। हालांकि यह उनके ऊपर निर्भर करेगा कि वे लखनऊ में रहना पसंद करेंगे या दिल्ली में, क्योंकि उनका नाम यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग नई दिल्ली) के सदस्य के लिए भी चल रहा है।

मुख्यमंत्री ने उनको विदाई देते हुए कैबिनेट में यह भी कहा कि जिस माहौल में वे मुख्य सचिव पद पर आए, उस समय ब्यूरोक्रेसी के अंदर कठिनाई का माहौल था। जिसे उन्होंने बहुत अच्छे तरीके से संभाला और उसमें शासन-प्रशासन चलाने में तमाम सुधार किए। योजनाओं और कार्यक्रमों को सुचारू रूप से लागू किया। श्री योगी ने कहा कि कई मुख्य सचिवों और अफसरों की इंटीग्रिटी को लेकर सुनते आए हैं लेकिन राजीव कुमार पर कोई उंगली नहीं उठा सकता है। यह बहुत बड़ी चीज है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close