EducationNewsUttar Pradesh

CM योगी ने शिक्षमित्रों को दी राहत, मूल स्कूलों में मिलेगी तैनाती

लगभग 1.37 लाख शिक्षामित्र अब अपने मूल नियुक्ति वाले स्कूलों में काम कर सकेंगे । वहीं, महिला शिक्षामित्रों को उसी जिले में अपनी ससुराल या पति की तैनाती वाली जगह पर जाने का भी विकल्प दिया जाएगा।

अखिलेश कुमार
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षामित्रों को उनके मूल स्थान पर तैनात करने का विकल्प देने का फैसला किया है। इससे शिक्षामित्रों को जिले के अंदर घर से दूर तैनाती से मुक्ति मिल जाएगी। उनके पास विकल्प होगा कि वे या तो अपने वर्तमान तैनाती के स्थान पर रहें या घर के पास मूल तैनाती वाले स्कूल में चले जाएं।

मुख्यमंत्री के निर्णय के अनुसार, विवाहित महिलाएं जिले में उस स्थान का भी चयन कर सकती हैं, जहां उनकी ससुराल का घर हो या उनके पति की तैनाती हो। इससे एक ओर शिक्षामित्रों को उनके घर के नजदीक रहकर विद्यालय में कार्य करने का अवसर मिलेगा।

वहीं, उन्हें दूर के विद्यालय में आने-जाने में होने वाले व्यय, मानसिक तनाव और परेशानी से मुक्ति मिलेगी। इसके साथ ही समय की बचत भी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कदम से शिक्षामित्रों को कार्य करने के बेहतर अवसर मिलेंगे। उधर, सरकार के इस फैसले पर शिक्षामित्र संगठनों के नेता दुष्यंत चौहान, अनिल यादव और जितेंद्र शाही ने खुशी जाहिर की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अपर मुख्य सचिव डॉ. प्रभात कुमार के सकारात्मक रवैये के कारण यह निर्णय हो पाया है। हम पिछले एक वर्ष से इसकी मांग कर रहे थे। हमें आशा है कि आगे भी शिक्षामित्रों के पक्ष में निर्णय होंगे।
-जितेन्द्र शाही, आदर्श शिक्षक शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close