IndiaNewsUttar Pradesh

CM योगी आदित्यनाथ से मिला शहीद इंस्पेक्टर सुबोध का परिवार

दोनों बच्चों की पढ़ाई का वहन करेगी सरकार। पेंशन और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएंगी।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। यूपी के बुलंदशहर कांड में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध का पीड़ित परिवार आज सीएम योगी से मुलाकात करने पहुंचा। सीएम आवास पर हुई इस मुलाकात में शहीद सुबोध की पत्नी, दोनों बेटे और बहन मौजूद थी। इस बैठक में शामिल होने के लिए डीजीपी ओपी सिंह, प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग और एटा के विधायक सतपाल सिंह राठौर भी पहुंचे।

परिवार से मुलाकात के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि बुलंदशहर में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई। पुलिस विभाग, सीएम, सभी की ओर से म्रतक को श्रद्धांजलि। सीएम ने इंटेलिजेंस विभाग को जांच दी है, आज रिपोर्ट मिलेगी। सुबोध का बड़ा बच्चा सिविल सर्विस और छोटा बेटा लॉ की तैयारी कर रहा है। जो जांच होगी सभी की भूमिका तय होगी, कार्यवाही होगी सीएम ने कहा है। उन्होंने कहा कि सीएम ने आश्वाशन दिया है कि परिवार के साथ सरकार खड़ी है।

दोनों बच्चों की पढ़ाई का वहन करेगी सरकार। पहले 40 लाख परिवार को और अब 10 लाख भी परिवार को जायेंगा। जो पीड़ित परिवार ने बच्चों की पढ़ाई के लिए लोन लिया था वो राशि सरकार देगी। पेंशन और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएंगी।

बुलंदशहर हिंसा के बाद योगी सरकार गोकशी को लेकर सख्त हो गई है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा कदम उठाते हुए गोवध और गोवंश के अवैध व्यापार पर रोक के आदेश दे दिए हैं। साफ कर दिया गया है कि अगर इस तरह की कोई भी घटना होती है, तो संबंधित जिलों के डीएम और एसपी जिम्मेदार माने जाएंगे। इस बात की जानकारी मुख्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके दी।

इन सब के साथ साथ आज मामले की एसआईटी रिपोर्ट सौंपी जाएगी जिसके बाद कई बड़े अफसरों पर गाज गिर सकती है। आपको बता दें कि गोकशी के मामले को लेकर बुलंदशहर में हुई हिंसा में गोली लगने से इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और एक अन्य युवक की मौत हो गई थी। कल हिंसा के इस मास्टरमाइंड योगेश का एक वीडियो सामने आया तो पूरा पुलिस महकमा हिल गया। वीडियो जारी कर योगेश ने खुद को बेकसूर बताया और दावा किया कि हिंसा के वक्त वो मौके पर मौजूद ही नहीं था।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close