IndiaNews

CM मनोहर पर्रिकर का निधन, लंबे समय से कैंसर से थे पीड़ित

कैंसर से गंभीर तौर पर जूझने के बावजूद वह बीते कई महीनों से सीएम के तौर पर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह कर रहे थे। गोवा में बीजेपी और राजनीति के एक मजबूत स्तंभ रहे मनोहर पर्रिकर आईआईटी से पढ़े थे।

मनप्रीत कौर
नई दिल्ली/पणजी। लंबी बीमारी के बाद गोवा के मुख्यमंत्री व देश के पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का आज रविवार की शाम निधन हो गया। मनोहर पर्रिकर 63 साल के थे। पर्रिकर अग्नाशय की गंभीर बीमारी से पीड़ित थे। पर्रिकर के निधन से पूरा देश शोकाकुल है। बीमारी का पता चलने के ठीक एक साल बाद मनोहर पर्रिकर का पणजी आवास पर निधन हो गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर पर्रिकर को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि गोवा और देश के लिए उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। सोमवार को सुबह 11 बजे उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए केंद्रीय कैबिनेट की बैठक बुलाई गई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पर्रिकर के निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया है। राहुल ने लिखा, ‘गोवा के सीएम के निधन से बेहद दुखी हूं। वह बीते एक साल से बीमारी से पूरी जीवटता के साथ संघर्ष कर रहे थे। पार्टी लाइन से ऊपर वह सम्मानित नेता थे और गोवा के सबसे अच्छे लोगों में से थे। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।

कैंसर से गंभीर तौर पर जूझने के बावजूद वह बीते कई महीनों से सीएम के तौर पर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह कर रहे थे। नाक में ड्रिप लगाए उनकी कई तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं। गोवा में बीजेपी और राजनीति के एक मजबूत स्तंभ रहे मनोहर पर्रिकर आईआईटी से पढ़े थे। देश के पढ़े-लिखे और सादगी से जीवन जीने वाले नेता के तौर पर उनकी खास पहचान थी।

गौरतलब है कि फरवरी 2018 में पर्रिकर को पैंक्रियाटिक कैंसर की पहचान हुई थी। वह गोवा, मुंबई, दिल्ली और न्यू यॉर्क के अस्पतालों में इलाज करा चुके हैं। जिन दिनों वह बेहद बीमार थे, तब वह राज्य की विधानसभा में 2019-20 का बजट पेश करने आए थे। इस दौरान उन्होंने बेहद आत्मविश्वास से कहा था, मैं जोश में भी हूं और होश में भी हूं।

अमेरिका से सितंबर में इलाज कराकर भारत लौटे थे पर्रिकर
मनोहर पर्रिकर सितंबर में अमेरिका से इलाज कराकर भारत लौटे थे। वहां एक हफ्ते तक उनका इलाज चला था। इससे पहले एक बार और इलाज के लिए तीन महीने तक उन्हें अमेरिका में रहना पड़ा था। अमेरिका से लौटने के बाद पिछले साल अक्टूबर में एक बार फिर उनकी तबीयत खराब हुई थी। तब उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। एक महीने एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए गोवा ले जाया गया था।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close