India

CM योगी की बैठक में शामिल हुए सपा MLA नितिन अग्रवाल, अखिलेश का डिनर छोड़ा

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी से चुनावी प्रबंधन के लिए संगठन ने विशेष रणनीतिकारों को जिम्मेदारी दी गई है, तो संपूर्ण चुनाव की निगरानी खुद सीएम योगी संभाल रहे हैं।

राज्यसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में बुधवार को लखनऊ में सियासी हलकों में बीजेपी की ‘चाय पर चर्चा’ और सपा की ‘डिनर डिप्लोमेसी’ की दिनभर चर्चा होती रही. दरअसल बीजेपी की तरफ से खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्यसभा चुनाव की तैयारियों को लीड कर रहे हैं।

इसी क्रम में उन्होंने अपने सरकारी आवास पर बीजेपी और सहयोगी दलों के विधायकों की बैठक बुलाई थी. बैठक में सीएम, दोनों डिप्टी सीएम, बीजेपी के संगठन के प्रमुख नेताओं के साथ तमाम विधायक उपस्थित हुए. इस दौरान विधायकों को राज्यसभा चुनाव में वोटिंग की ट्रेनिंग भी दी गई।

बैठक में 9 विधायकों वाली अपना दल सोनेलाल और 4 विधायकों वाले सुभासपा के नेता भी उपस्थित हुए. इनमें सुभासपा के ओम प्रकाश राजभर भी शामिल थे. वैसे बैठक का मुख्य आकर्षण समाजवादी पार्टी के हरदोई सदर से विधायक नितिन अग्रवाल की उपस्थिति रही। नितिन अग्रवाल नरेश अग्रवाल के पुत्र हैं. हाल ही में नरेश अग्रवाल ने बीजेपी ज्वाइन की है और उन्होंने ऐलान किया था कि नितिन अग्रवाल राज्यसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में वोट डालेंगे. 23 मार्च को राज्यसभा की 10 सीटों के लिए चुनाव होना है. इनमें से 8 सीटें बीजेपी आसानी से जीत रही है। वहीं नवीं सीट के लिए उसके पास 9 विधायक कम हैं.।


BJP से चुनावी प्रबंधन के लिए संगठन ने विशेष रणनीतिकारों को जिम्मेदारी दी गई है, तो संपूर्ण चुनाव की निगरानी खुद सीएम योगी संभाल रहे हैं. वहीं, यूपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय ने बसपा और कांग्रेस से बीजेपी में आए मंत्रियों क्रमशः स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान, लक्ष्मी नारायण, ब्रजेश पाठक, एसपी सिंह बघेल और रीता बहुगुणा से मुलाकात की है. बसपा और कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों पर नज़र रखने के लिए इनकी तैनाती की गई है।

इसलिए हो रही है डिनर डिप्लोमेसी

यूपी की 10 सीटों के लिए हो रहे राज्य सभा चुनावों में 11 उम्मीदवार मैदान में हैं.। विधायकों की संख्या के लिहाज से बीजेपी के 8 और सपा के एक सदस्य की जीत तय है. बीजेपी के 9वें उम्मीदवार के उतरने से मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है. सूबे की सभी पार्टियां अपना-अपना किला बचाने के लिए डिनर डिप्लोमेसी में जुटी हैं.

BJP के खिलाफ खड़ा है विपक्ष

बीजेपी के 9वें उम्मीदवार के खिलाफ सूबे का समूचा विपक्ष एकजुट होकर बीएसपी प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर के साथ खड़ा है. बीएसपी उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर और बीजेपी समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल अग्रवाल के बीच मुकाबला है. बसपा उम्मीदवार अंबेडकर को सपा और कांग्रेस समर्थन कर रहे है। अजित सिंह की पार्टी आरएलडी भी उनके समर्थन में है। ऐसे में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के लिए 9वीं सीट जीतना काफी अहम चुनौती है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close