KanpurPoliticsUttar Pradesh

CBI जांच BJP का पॉलिटिकल स्टंट : आदित्य यादव

आदित्य ने सीबीआई की कार्रवाई को भाजपा का स्टंट करार देते हुए कहा कि इस रेड से यूपी के राजनीतिक दल डरने वाले नहीं है।

आनंद सिंह चौहान
कानपुर नगर। मोदी सरकार की कैबिनेट में आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आरक्षण देने के फैसले पर शिवपाल सिंह यादव के पुत्र आदित्य यादव ने कहा कि 10 फीसदी आरक्षण भी बीजेपी को 2019 में नहीं बचा पायेगा। प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के पुत्र एवं पीसीएफ चेयरमैन आदित्य यादव गुरुवार को निजी समारोह में शामिल होने कानपुर आए थे। उन्होंने कहा कि वो सवर्ण आरक्षण के पक्षधर जरूर हैं लेकिन जरूरतमंदों को ही आरक्षण का लाभ मिले। आदित्य यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज किसानों, बेरोगारों और युवाओं में बीजेपी के प्रति काफी गुस्सा है।

आदित्य यादव ने कहा कि प्रासपा आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार है। पार्टी एक बूथ-बीस यूथ के तहत कार्यकर्ताओं की नियुक्ति कर रही है। पार्टी की मदद शिवपाल फैन्स एसोसिएशन के डेढ़ लाख कार्यकर्ता कर रहे हैं। हम प्रदेश की 79 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं और यहां सबसे ज्यादा सीटें जीत कर केंद्र की राजनीति में प्रसपा अहम रोल निभाएगी। आदित्य यादव ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने पूराने साथियों के आर्शीवाद से अलग दल बना है, लेकिन हम सभी आज भी सपा प्रमुख अखिलेश यादव को प्यार और सम्मान करते हैं। भले ही उनसे हमारी राजनीतिक लड़ाई हो पर परिवार के नाते वो आज भी हमसब से बड़े हैं। खनन मामले पर उनका नाम उछाला जाना भाजपा की साजिश है। वो उन्हें बदनाम कर यूपी के लोगों का मन भटकाना चाहती है, पर अब ऐसा होने वाला नहीं है।

बतादें हाईकोर्ट के आदेश पर खनन केस में सीबीआई की टीमों ने प्रदेश के कई जिलों में छापेमारी की थी। इसमें प्रमुख रूप से आईएएस बी चंद्रकला, सपा विधायक रमेश मिश्रा, दिनेश मिश्रा सहित एक दर्जन लोग शामिल हैं। सीबीआई की कार्रवाई के बाद प्रदेश की सियासत गर्म हो गई। अखिलेश यादव का नाम आने के बाद वो खुद मीडिया के सामने आए और भाजपा पर जमकर बरसे। जबकि भाजपा के कई नेताओं ने सपा प्रमुख की भी जांच कराए जाने की मांग कर डाली। इस पूरे मामले में परिवार से अगल होकर नया दल बनाने वाले शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव अपने बड़े भाई अखिलेश के साथ खड़े नजर आए। आदित्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी को अपना जनाधार खिसकता नजर आ रहा है। उत्तर प्रदेश के मौजूदा हालात बीजेपी के विपरीत है जिसकी वजह से वो सीबीआई का सहारा लेकर राजनीतिक दलों पर दबाव बना रही रही है। आदित्य ने सीबीआई की कार्रवाई को भाजपा का स्टंट करार देते हुए कहा कि इस रेड से यूपी के राजनीतिक दल डरने वाले नहीं है।

आदित्य यादव ने आगामी लोकसभा चुनाव में सपा व बसपा के बीच बनने वाले गठबंधन का स्वागत किया। प्रसपा नेता ने कहा कि भाजपा को हटाने के लिए सभी दलों को एक साथ आना चाहिए, ताकि हम पूरी ताकत के संप्रदायिक दल को सत्ता से बेदखल कर सकें। आदित्य ने कहा कि यदि सपा व बसपा की तरफ से गठबंधन में शामिल होने का ऑफर आता है तो इस पर विचार किया जा सकता है। आदित्य यादव ने कहा कि गठबंधन में हमें जगह नहीं मिलती तो पार्टी के सामने अन्य विकल्प खुले हैं। कांग्रेस के साथ गठबंधन के प्रश्न पर आदित्य यादव ने कहा कि कई मामले पर शिवपाल यादव के साथ ही पार्टी का शीर्ष नेतृत्व ही जवाब दे सकता है। पर हम चाहते हैं कि सामान विचारधारा वाले सभी दल एक साथ मिलकर चुनाव के मैदान में उतरें।

वही प्रसपा के नगर अध्यक्ष मोह्ताब आलम ने कहा कि क्षेत्र में अधिवक्ताओं की समस्याएँ काफी ज्यादा है इन समस्याओं के निराकरण के लिए वो जल्द ही अधिवक्ताओं के एक प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव से करायेंगे।

कार्यक्रम में प्रसपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष शम्मी, नगर महासचिव सुनील महिवाल, सचिन वोहरा, पूर्व अध्यक्ष नदीम मोहम्मद शहीद, मोहसीन सिद्दकी मोज, शकील, रिजवान सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close