KanpurNewsPoliticsUttar Pradesh

BJP काम नहीं कर पाई तो लोगों को लड़ाने लगी : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि वह काम करने में नाकाम रही तो लोगों को लड़ाने पर उतर आई है। अखिलेश ने यह भी कहा कि चुनाव के समय धार्मिक मुद्दों को उछालकर विकास से ध्यान भटकाया जा रहा है।

सौरभ शुक्ला
कानपुर नगर। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (एसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बजरंगबली को दलित कहने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि चुनाव के समय धार्मिक मुद्दों को उछालकर विकास से ध्यान भटकाया जा रहा है। अखिलेश ने यह भी कहा कि बीजेपी काम करने में नाकाम रही तो उसने लोगों को लड़ाना शुरू कर दिया।

अखिलेश ने कानपुर देहात के झींझक क्षेत्र के गांव में खंजाचीनाथ के दूसरे जन्मदिन पर उसके माता-पिता को घर का तोहफा दिया। उन्होंने कहा, केंद्र और उत्तर प्रदेश की सरकार लंबे समय से विकास की बात कर रही थी। देश और प्रदेश में विकास की लंबी बातें करने वाली पार्टी के मुंह से अब विकास की बात गायब हो गई है। बीजेपी जब कोई काम करने में नाकाम रही तो लोगों को लड़ाने का काम शुरू कर दिया है।

फर्जी एनकाउंटर कर रही है पुलिस
अखिलेश ने कानून व्यवस्था पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा, ‘प्रदेश में डर और भय का माहौल है। बीजेपी विकास से ध्यान हटाने के लिए इस तरह की मुद्दे लाती है। हमारे सीएम कहते हैं बंदर भगाने हैं, सूबे की कानून व्यवस्था पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रदेश में डर औऱ भय का माहौल है। पुलिस फर्जी इनकाउन्टर कर रही है। फर्जी अपराधी बना कर इनकाउंटर किया जा रहा है। पुलिस वाले खुद को फर्जी गोली मार रही हैं। जिसके चलते अपराध कम होने के बजाए बढ़ है।

उन्होंने कहा की सूबे के इतिहास में पहली बार इनकाउंटरों पर इतना हो-हल्ला हो रहा है मानवाधिकार लगातार सरकार को नोटिस दे रहा है। जहां इनकाउन्टर हुई वहां कानून व्यवस्था सबसे ज्यादा खराब हुई। देश में इस तरह का माहौल है कि उद्योगपति यहां आना नही चाहते। वह कह रहे हैं कि वह भारत आए तो उनकी मांब लिंचिंग हो जाएगी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने चलते-चलते मेट्रो पर भी चुटकी ली। उन्होंने कहा, मैं तो कानपुर आया था, यह सोचकर कि मेट्रो में भी घूम लूंगा लेकिन एसपी की सरकार जाने के बाद से मेट्रो का काम बिल्कुल ठप हो गया। हमें तो विकास को ही भगवान मानना चाहिए। विकास का हर काम हमारे लिए तो सबसे बड़ा मंदिर है। विकास के काम से ही जनता तो राहत मिलती है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close