IndiaNewsPoliticsUttar Pradesh

‘रोली तिवारी मिश्रा’ होंगी दिल्ली में सपा प्रवक्ता

समाजवादी पार्टी ने एक और लिस्ट जारी कर दी है। इसमें चार लोगों के नाम हैं जिनमें सपा नेत्री व उत्तर प्रदेश की पूर्व राज्य महिला आयोग सदस्य रोली तिवारी मिश्रा भी शामिल हैं।

हिमानी बाजपेई शुक्ला
लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने मंगलवार की शाम पार्टी ने चार नए नामों को पैनल लिस्ट में शामिल कर लिया। इसमें सबसे अहम नाम रोली तिवारी मिश्रा का है। उन्हें पार्टी ने देश की राजधानी दिल्ली में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में पार्टी का पक्ष रखने के लिए चुना है।

मंगलवार को जिन चार नामों को मीडिया पैनल लिस्ट में जोड़ा है वे सभी प्रवक्ता के तौर पर नए चेहरे हैं। रोली तिवारी मिश्रा आगरा की रहने वाली है और समाजवादी सरकार में राज्य महिला आयोग की सदस्य रह चुकी हैं। इस दौरान उन्होंने महिलाओं से जुड़े मामलों मेंं पार्टी का लगातार पक्ष रखा। रोली तिवारी मिश्रा के पति डॉ संदीप मिश्रा आर्मी ऑफीसर हैं। उन्होंने आगरा शहर के दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र से पार्टी टिकट पर प्रत्याशी भी घोषित की गई थी लेकिन चुनाव से पहले ही टिकट काट दिया गया था। कांग्रेस की तरफ से उद्यमी नजीर अहमद चुनाव लड़े लेकिन हार का सामना करना पड़ा औऱ सीट भाजपा के खाते में गई। इन दिनों अपने परिवार के साथ दिल्ली में रह रही हैं।

समाजवादी पार्टी के साथ उनका पुराना रिश्ता है। ब्राह्मण और महिला होने के नाते वह दिल्ली में बतौर प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक की भरपाई कर सकेंगी ऐसा सोचकर ही पार्टी नेतृत्व में उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी है। सपा नेत्री रोली तिवारी मिश्रा पूर्व पत्रकार और कवियत्री भी हैं। आगरा में भी उनका निवास है। रोली ने पिछली सरकार के दौरान महिलाओं से जुड़े मामलों में त्वरित एक्शन लेकर और लगातार जनसुनवाई से अपनी अलग पहचान बनाई।

रोली तिवारी मिश्रा ने पंखुड़ी पाठक के इस्तीफे के बाद उन तमाम महिलाओं पर निशाना साधते हुए एफबी पर पोस्ट शेयर की थी जिन्हेंने पार्टी में दम घुटने के बाद इस्तीफा दिया। हालांकि रोली की इस पोस्ट में पंखुड़ी का नाम नहीं है लेकिऩ इशारों ही इशारों में पंखुड़ी पर निशाना है और अखिलेश के नेतृत्व पर विश्वास जताया है।

सपा के पैनल लिस्ट के अन्य नामों में संजय गर्ग विवेक साइलस और अमीक जामई शामिल हैं। विवेक साइलस मिर्जापुर के रहने वाले हैं। उनके नाना सांसद रह चुके हैं और पिता भी मिर्ज़ापुर नगर पालिका के चेयरमैन रहे है। ईसाई समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले विवेक लंबे अरसे से समाजवादी पार्टी के साथ हैं। पहले प्रदेश सचिव भी रह चुके हैं और अखिलेश के करीबी माने जाते हैं।

वहीं तीसरा चर्चित नाम जौनपुर के अमीक जामई का है। जामिया मिलिया इस्लामिया दिल्ली से पढ़ाई पूरी करने वाले अमीक को वामपंथी रुझान के लिए जाना जाता है। अपनी वामपंथी चेतना की वजह से वह हमेशा दक्षिणपंथियों के निशाने पर रहे हैं। डिबेट में गर्मी लाने वाले अमीक को सपा ने भाजपाई हमलों की काट करने के लिए चुना है। संजय गर्ग पूर्व मंत्री रहे हैं और व्यापारी नेता के तौर पर पहचाने जाते हैं।

ये नेता बनाए गए मीडिया पैनेलिस्ट-
समाजवादी पार्टी का पक्ष रखने के लिए जिन नेताओं को मीडिया पैनेलिस्ट बनाया गया उनके नाम हैं- राजीव राय, जूही सिंह, नावेद सिद्दीकी, जगदेव सिंह यादव, उदयवीर सिंह, घनश्याम तिवारी, सुनील सिंह यादव, संजय लाठर, सैय्यद अब्बास अली जैदी उर्फ रुशदी मियां, राजपाल कश्यप, वंदना सिंह, शवेंद्र विक्रम सिंह, नासिर सलीम, अनुराग भदौरिया, अब्दुल हफीज गांधी, पवन पांडेय, प्रो. अली खान ‘महमूदाबाद’, निधि यादव, राजकुमार भाटी, ऋचा सिंह, मनोज राय घुपचंडी, जितेंद्र उर्फ जीतू वर्मा, फैजान अली किदवई, राम प्रताप सिंह।

समाजवादी पार्टी द्वारा भेजी गई सूची में जिन चार नामों को शामिल किया गया है वो हैं- संजय गर्ग, अमीत जामेई, रोली तिवारी मिश्रा, विवेक साइलस। इनमें संजय गर्ग यूपी के सहारनपुर जिले के सहारनपुर नगर विधान सभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। आज ही दंगा आरोपितों के मुकदमे वापसी पर नोकझोंक के चलते सदन से सपा ने वॉकआउट किया था। यह मुद्दा संजय गर्ग ने ही उठाया था व उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार सदन को गलत जानकारी दे रही है। गर्ग ऐसे ही सपा की आवाज उठाते रहे हैं और पार्टी का पक्ष रखते रहे हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close