India

सुषमा स्वराज से साथी नेताओं को सीखना चाहिए !

मनप्रीत कौर
नई दिल्ली। सुषमा स्वराज जैसे कद के नेता जब ऐसा कुछ करते हैं तब ये अन्य नेताओं के लिए भी नायाब उदाहरण बन जाता है।

संसद में लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। अलग-अलग पार्टियों द्वारा अपने अलग-अलग मांग को लेकर संसद में विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी फेहरिस्त में तेलंगाना राष्ट्र समिति यानि TRS भी है जो संसद में सरकार से मांग कर रही है कि पूरे देश में हर राज्य के लिए एक ही नीति हो. सोमवार को भी संसद को सामने TRS का प्रदर्शन जारी था।
N
अचानक विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की गाड़ी गैलरी में आई। विरोध कर रहे TRS संसदीय दल के नेता जितेन्द्र रेड्डी सुषमा के पास गए। इस दौरान सुषमा गाड़ी में बैठी रहीं. उन्होंने बड़ी गंभीरता और सहज तरीके से विरोधियों की बात सुनी. करीब पांच मिनट तक रेड्डी सुषमा से कुछ कहते रहे और राजनीतिक परिपक्वता दिखाते हुए सुषमा स्वराज जैसी वरिष्ठ कद की नेता ने उचित बर्ताव किया।

संसद के इस सत्र में जहां लगातार विरोध का दौर जारी है वहीं ऐसे भी नजारे दिख जाते हैं। विदेश मंत्री का अपने विरोधियों की बात इतने सरल तरीके से सुनना ये जाहिर करता है कि आज भी भारत की राजनीति में संवाद और सहजता कहीं खोई नहीं है। सुषमा जैसे कद के नेता जब इसका परिचय देते हैं तब ये अन्य नेताओं के लिए भी नायाब उदाहरण बन जाता है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close