IndiaNewsPolitics

सिग्नेचर ब्रिज विवाद: धक्का देने वाले पुलिसकर्मियों को 4 दिनों में सिखाऊंगा सबक : मनोज तिवारी

भाजपा सांसद मनोज तिवारी का आरोप है कि सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के दौरान पुलिस ने उन्हें धक्का दिया। तिवारी ने पुलिसकर्मियों को सबक सिखाने की धमकी दी है।

अजीत राय भट्ट
नई दिल्ली। दिल्ली के सिग्नेचर ब्रिज को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और आम आदमी पार्टी के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है। रविवार को ब्रिज के उद्घाटन समारोह के दौरान आप के कार्यकर्ताओं और मनोज तिवारी के साथ झड़प हो गई। एक वीडियो में आप विधायक अमानतुल्ला तिवारी को धक्का देते हुए दिखाई दिए हैं। इस बीच तिवारी ने पुलिसकर्मियों को सबक सिखाने की धमकी दी है। भाजपा अध्यक्ष का कहना है कि उन्होंने धक्का देने वाले पुलिसकर्मियों की पहचान कर ली है। तिवारी ने पुलिसकर्मियों को चार दिनों के भीतर सबक सिखाने की धमकी दी है।

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में तिवारी ने कहा, मैं यहां ब्रिज के उद्घाटन तक रहूंगा। मैंने उन पुलिसकर्मियों की पहचान कर ली है जिन्होंने मुझ पर हमला किया। यहां केवल एक व्यक्ति है जो यह कह रहा है कि मैंने आम आदमी पार्टी से जुड़े किसी व्यक्ति पर हमला किया और जो यह कह रहा है वह इस इलाके का एडिशनल डीसीपी-1 है। चार दिनों के भीतर मैं इन सभी पुलिसकर्मियों को सबक सिखाने जा रहा हूं।

इस बीच आप नेता दिलीप पांडे ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए उन पर हुड़दंग करने का आरोप लगाया है। पांडे ने एएनआई से कहा, हजारों लोग यहां बिनी किसी आमंत्रण के ब्रिज के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने आए हैं लेकिन मनोज तिवारी खुद को वीआईपी समझते हैं। वह हुड़दंग कर रहे हैं। भाजपा के लोगों ने आप के समर्थकों एवं स्थानीय लोगों को पीटा। घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मनोज तिवारी ने आरोप लगाया है कि पुलिस और आप के समर्थकों ने उन्हें ब्रिज के उद्घाटन समारोह में शरीक होने से रोक दिया। मीडिया से बातचीत में तिवारी ने कहा, ‘मैं इस क्षेत्र से संसद का सदस्य हूं। मैंने ब्रिज का काम दोबारा से शुरू कराया और अरविंद केजरीवाल मेरे साथ ऐसा बर्ताव कर रहे हैं। उन्होंने कहा, मुझे उद्घाटन समारोह के लिए निमंत्रित किया गया था। तो मेरे शरीक होने में समस्या क्या थी? क्या मैं अपराधी हूं? पुलिस ने मुझे घेर क्यों लिया?

इस विवाद पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्वीट में कहा, ‘अप्रत्याशित। सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन स्थल पर भाजपा द्वारा अराजकता। यह दिल्ली सरकार का कार्यक्रम है। पुलिस मूक दर्शक है। क्या एलजी, दिल्ली पुलिस के प्रमुख होने के नाते, सिग्नेचर पुल उद्घाटन स्थल पर शांति और व्यवस्था सुनिश्चित कर सकते हैं?

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close