NewsPoliticsUttar Pradesh

CM योगी को शिवपाल यादव ने लिखा पत्र, इस बड़े भ्रष्टाचार की खोल दी पोल

समाजवादी पार्टी के नेता शिवपाल सिंह यादव ने सीएम योगी को पत्र लिखकर इटावा में हो रहे भ्रष्टाचार को उजागर किया है।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता शिवपाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने गेहूं खरीद में भ्रष्‍टाचार का आरोप लगाया है। शिवपाल यादव ने पत्र लिखकर इटावा व औरैया में गेंहूं खरीद में की जा रही वसूली के बारे में सीएम योगी को अवगत कराया है। उनका कहना है कि यहां गेहूं खरीद में बड़ा भ्रष्टाचार व्याप्त हैं।

शिवपाल ने पत्र में प्रदेश सरकार की महत्वपू्र्ण योजनाओं में से एक गेंहूं खरीद और विपणन योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार को उजागर करते हुए लिखा कि इटावा जिले के एआर, एडीसीओ व अन्य अफसर सहकारी समितियों के सचिवों के साथ मिलकर वसूली कर रहे हैं। प्रति क्विंटल गेहूं की खरीद पर किसानों से 200 रुपये तक की वसूली की जा रही है। यह किसानों के श्रम व संसाधन की खुली लूट है। उन्होंने आगे कहा कि ऐसे दोर में जहां खेती की लागत निरंतर बढ़ती जा रही है, विद्युत, उर्वक और कीटनाशक के दाम बढ़ते जा रहे हैं, ऐसा में किसानों को होने वाला मुनाफा सीधा दलालों की जेब में जा रहा है।

CM योगी जाने वाले थे निरीक्षण करने-
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 1 जून को अपने इटावा दौरे के दौरान नवीन मंडी परिसर मे स्थापित गेंहू खरीद केंद्रो का निरीक्षण करने के लिए जाने वाले थे, लेकिन ऐन मौके पर स्थानीय अफसरों ने कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए डा.भीमराव अंबेडकर राजकीय सयुक्त चिकित्सालय का अवलोकन करवा दिया था, जिसके नतीजे में समाजवादी पार्टी की यूथ ईकाई से जुड़े हुए दर्जनों युवाओ ने काले झंडे दिखा कर विरोध भी किया था।

काग्रेंस जिला ईकाई के अध्यक्ष का उठा लिया गया था-
इससे पहले गेंहू खरीद केंद्र मे गड़बड़ी का मुद्दा उठाये जाने पर इटावा काग्रेंस जिला ईकाई के अध्यक्ष उदयभान सिंह यादव को मुख्यमंत्री के दौरे से पहले देर रात अंधेरे में तब घर से उठा लिया जब वे अपने परिवार के साथ सो रहे थे।
कुल मिला कर कहा जा सकता है कि काग्रेंस अध्यक्ष उदयभान सिंह यादव की आवाज को बल इस लिहाज से और ज्यादा इसलिए भी मिलता हुआ दिखाई दे रहा है क्योंकि उनके बाद अब समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अधिकारियों पर वसूली का आरोप लगा कर आड़े हाथों लिया है।

शिवपाल ने अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की उठाई मांग-
शिवपाल ने कहा है कि अफसर और बिचौलिये मिलकर भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे हैं, जिससे किसान लोग परेशान हो रहे हैं। उन्होंने मामले की जांच कराने के साथ ही दोषी अफसरों-कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शिवपाल ने आग्रह किया कि सरकार इस मामले में सीधा हसतक्षेप करें व दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई का आदेश सम्बंधित को दें। बता दें कि, इससे पहले 7 जून को सीएम योगी ने गोंडा और फतेहपुर के डीएम को सरकारी अनाज की कालाबाजारी के आरोप में ही निलंबित किया है। अब देखना है कि भ्रटाचार के खिलाफ मुहिम छेड़ चुके सीएम योगी शिवपाल की इस शिकायत का क्या करते हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close