BusinessNewsUttar Pradesh

वाणिज्य कर सेवा संघ के 52वीं वार्षिक अधिवेशन में मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापारियों का शोषण नही होना चाहिए

CM ने कहा कि जीएसटी का सबसे ज्यादा दुष्प्रचार किया गया। विरोधियों ने व्यापारियों में भय का वातावरण बनाने का काम किया।

पारुल अम्बर
लखनऊ। सीएम योगी ने आज प्रदेश के कर्मचारियों को सख्त हिदायत दी है की व्यापारियों का शोषण नहीं होना चाहिए। आज उन्होंने उन कर्मचारियों पर निशाना साधा जो अक्सर काम बंद करने के साथ आंदोलन करने लगते हैं। सीएम योगी आज इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में उत्तर प्रदेश वाणिज्य कर सेवा संघ के 52वें वार्षिक अधिवेशन में बतौर मुख्य अतिथि लोगों को संबोधित कर रहे थे जहां उन्होंने कर्मचारी संगठनों को चेतावनी दी।

सीएम ने कहा कि उनके अंदर यह भाव पैदा करने की जरूरत है कि वह कर चोरी ना करें। राष्ट्र के विकास के लिए कर चोरी न कर अपना अहम योगदान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी का सरलीकरण किया गया है। फिर भी व्यापारियों में विश्वास की कमी है। जीएसटी का सबसे ज्यादा दुष्प्रचार किया गया। विरोधियों ने व्यापारियों में भय का वातावरण बनाने का काम किया। परस्पर विश्वास का माहौल कैसे तैयार हो सके, इसके लिए काम करना आवश्यक है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 13 लाख व्यापारियों का पंजीकरण हुआ है। यह हमें 20 लाख तक लेकर जाना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापारियों का पंजीकरण उनके हित में है। उत्तर प्रदेश में जीएसटी की सबसे बेहतर संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने विभाग की छवि को चमकाएं। यह कर संग्रह करने का सबसे बड़ा विभाग है। सरकार हर मुद्दे पर बातचीत के जरिए समस्याओं का समाधान करेगी, लेकिन सरकार पर अनावश्यक दबाव बनाना ठीक नहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि संवाद से लोकतंत्र चलेगा। जब कोई संवाद का रास्ता छोड़ कर दबाव का रास्ता कर अख्तियार करता है तो समस्याएं आती है। उत्तर प्रदेश में राजस्व संग्रह बढ़ा है। पिछले 3 महीने का रेवेन्यू सबसे अच्छा आया है। इसे हमको और आगे ले जाना है।

सीएम योगी ने आगे कहा कि यूपी में हमने 7वां वेतन आयोग सभी संवर्गों के लिए सफलता पूर्वक लागू किया है जबकि कुछ प्रदेशों में अब तक 5वां वेतन आयोग ही लागू है। हम प्रदेश की जनता के उत्थान के लिए लगातार काम कर रहे हैं। राजस्व की नजर से देखा जाए तो आपकी बहुत बड़ी भूमिका है। इस साल आपको 71 हजार करोड़ रुपये का लक्ष्य दिया गया है और मुझे भरोसा है कि अगर पूरी निष्ठा से काम किया जाए तो यह एक लाख करोड़ तक पहुंच जाएगा।

उत्तर प्रदेश वाणिज्य कर सेवा संघ के अध्यक्ष मनोज त्रिपाठी ने स्वागत करते हुए कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद जीएसटी को लागू करने में हम सफल हुए हैं। राजस्व संग्रह के क्षेत्र में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि हमें प्रशंसा और प्रोत्साहन की भी जरूरत है। आभार ज्ञापन महासचिव ब्रिजेश दीपांकर ने किया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close