IndiaNewsPolitics

राहुल गांधी ने संसद में मारी आंख, ट्वीटर में प्रिया प्रकाश से हुई तुलना

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस भारतीय मीडिया के साथ-साथ सोशल मीडिया में भी छाई रही। इसके अलावा टॉप-10 ट्रेंड में राहुल गांधी और लोकसभा का नाम भी शामिल रहा। दिनभर अविश्‍वास प्रस्‍ताव से जुड़े अलग-अलग शब्‍द सोशल मीडिया पर ट्रेंड में रहे।

आशा चौधरी
नई दिल्ली। संसद भवन में शुक्रवार को केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण के वक्त सवालों के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया। राहुल गांधी ने अपना भाषण खत्म करने के बाद पहले तो पीएम मोदी के पास जाकर गले मिला और फिर उसके बाद अपने सीट पर वापस आने पर आंख भी मारी।

राहुल गांधी की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गई और अब इंटरनेट पर वह ट्रोल का शिकार हो गये। ट्विटर पर राहुल गांधी के आंख मारने वाले एक्सप्रेशन पर यूजर्स ने उन्हें वायरल गर्ल प्रिया प्रकाश वारियर से तुलना की। संसद भवन में राहुल की आंख मारने वाली फोटो पर लोग तरह-तरह के कमेंट्स भी कर रहे हैं।

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस भारतीय मीडिया के साथ-साथ सोशल मीडिया में भी छाई रही। इसके अलावा टॉप-10 ट्रेंड में राहुल गांधी और लोकसभा का नाम भी शामिल रहा। दिनभर अविश्‍वास प्रस्‍ताव से जुड़े अलग-अलग शब्‍द सोशल मीडिया पर ट्रेंड में रहे। लोकसभा में भाषण देने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को गले लगाकर सभी को चकित कर दिया। इसके बाद ट्विटर पर चुटकुलों की बाढ़ सी आ गई और ‘पप्पू की झप्पी’ और ‘हगप्लोमेसी’ जैसे हैशटेग चलने लगे.कई लोगों ने एक बॉलीवुड फिल्म ‘मुन्नाभाई’ के किरदार को याद किया जो अपने विरोधियों को गले लगाकर जीत लेता था, यह किरदार साबित करता था कि गांधीवादी मूल्यों की आज भी प्रासंगिकता है।

कांग्रेस अध्यक्ष के सदन में मोदी की ओर जाने और उन्हें गले लगाने का दृश्य टेलीविजन चैनलों और सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लगातार दिखाया जाने लगा तो लोगों के जेहन में आया कि किस तरह प्रधानमंत्री खुद नेताओं के गले लगते हैं। ट्विटर के एक यूजर ने लिखा,‘जैसे नरेंद्र मोदी दूसरों को गले लगाते हैं उसी तरह राहुल ने भी किया, वह भी तब जब कुछ मिनट पहले ही हरसिमरत बादल ने कहा था कि संसद ‘मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी’ के लिए नहीं है।’

एक अन्य यूजर अंकुर सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘और भी बेहूदा गले लगाना ‘हगप्लोमेसी’। एक यूजर ने लिखा ‘‘पप्पू बने मुन्ना भाई। ’इस घटनाक्रम से मोदी के चकित होने के बहाने एक यूजर ने सहमति का मुद्दा उठाया और इसे अब तक का सबसे जोर-जबरदस्ती से गले लगाना बताया.एक यूजर ने लिखा, ‘अगर नफरत नहीं है तो इसका मतलब बिना परमिशन गले लग जाओगे?’

राहुल के इस कदम से मोदी भी चकित रह गए और गले लगने के लिए खड़े नहीं हो पाए, लेकिन तुरंत खुद को संभालते हुए उन्होंने राहुल गांधी को बुलाया और हाथ मिलाने के साथ-साथ उनकी पीठ थपथपाई। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कुछ कहा भी, लेकिन इसे सुना नहीं जा सका.अपनी सीट पर वापस आने के बाद राहुल ने कहा “हिंदू होने का यही अर्थ है। राहुल गांधी ने कहा प्रधानमंत्री मोदी, बीजेपी और आरएसएस ने मुझे सिखाया है कि कांग्रेसी होने का अर्थ क्या है, असली भारतीय होने का अर्थ क्या है और एक असली हिंदू होने का अर्थ क्या है। इसके लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूं। उन्होंने कहा मेरे विरोधी मुझसे नफरत कर सकते हैं, मुझे “पप्पू” कह सकते हैं, लेकिन मुझे इसका गुस्सा नहीं है और न ही प्रधानमंत्री और भाजपा से घृणा है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close