IndiaNewsPoliticsUttar Pradesh

राम मंदिर निर्माण कोई चुनावी मुद्दा नहीं है : CM योगी आदित्यनाथ

यूपी मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जिस तरह उच्चतम न्यायालय ने सबरीमला मामले में निर्णय सुनाया है उसी तरह उसे राम मंदिर मुकदमे में भी फैसला सुनाना चाहिए।

नेहा पाठक
नयी दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि जिस तरह उच्चतम न्यायालय ने सबरीमला मामले में निर्णय सुनाया है उसी तरह उसे राम मंदिर मुकदमे में भी फैसला सुनाना चाहिए। राम मंदिर मामले को भारत के लोगों की आस्था का मामला बताते हुए योगी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण कोई राजनीतिक नहीं, धार्मिक भावनाओं से जुड़ा मामला है।

योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को दिल्ली में एक कार्यक्रम में राम मंदिर को लेकर अहम बयान दिया। कहा, किसी के साथ भी भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए। अगर सुप्रीम कोर्ट सबरीमाला मंदिर पर अपना फैसला दे सकता है तो हम अपील करते हैं कि राम मंदिर पर भी वह निर्णय ले।

राम जन्मभूमि राजनीतिक मुद्दा नहीं है। यह धार्मिक भावनाओं से जुड़ा मामला है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे बनने जा रहा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे सबसे लंबा हाई-वे होगा।

उन्होंने दावा किया कि यूपी में भ्रष्टाचार पर लगाम लगी है। ग्रामीण क्षेत्रों में 6 लाख लोगों को आवास उपलब्ध कराया गया है। बिजली आपूर्ति में सुधार किया है। पहले केवल पांच जिलों को बिजली मिलती थी अब 75 जिलों में एक समान बिजली मिल रही है।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, योगी ने इंडिया फाउंडेशन की ओर से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, अगर उच्चतम न्यायालय सबरीमला मामले में फैसला दे सकता है तो इसे राम मंदिर मुद्दे पर भी उसे अपना आदेश देना चाहिए। मैं न्यायालय से ऐसा करने का आग्रह करता हूं। साथ ही उन्होंने यह स्पष्ट किया कि उनके और उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के लिए राम मंदिर निर्माण कोई चुनावी मुद्दा नहीं है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close