IndiaNewsUttar Pradesh

यूपी डीजीपी ने रक्षाबंधन में बेटियों-महिलाओं से बंधवाई राखी, कहा महिला सुरक्षा दायित्व है हमारा

डीजीपी ने 'प्रेम निवास' में बंधवाई राखी, बहनों ने कहा- धन्यवाद अगले साल फिर इंतज़ार करेंगे भईयारविवार को यूपी के हर थाने और पुलिस चौकी पर रक्षाबंधन राखी विथ खाकी के स्लोगन के साथ मनाया गया।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। रक्षा बंधन के अवसर पर राखी विद खाकी कार्यक्रम का आह्वान करने के बाद डीजीपी ओपी सिंह खुद राखी बंधवाने निकले। डीजीपी खुद राजधानी के दो अलग-अलग स्थानों में ‘आशा ज्योति केन्द्र‘ एवं मदर टेरेसा फाउंडेसन द्वारा संचालित ‘प्रेम निवास’ में जाकर राखी बंधवाई। जहां उन्होंने मदर टेरेसा होम में रह रही मूकबाधिर महिलाओं व युवतियों के साथ रक्षा बंधन पर्व मनाया। होम में रह रही मूकबाधिर महिलाओं व युवतियों से राखी बंधवाकर डीजीपी ने महिलाओं को सुरक्षा का भरोसा दिलाया। साथ ही होम में रह रहे लोगो को फल व उपहार बांट कर डीजीपी ओपी सिंह ने उनके साथ खुशियां मनाई

प्रेम निवास में आश्रय पाए 190 बेसहाराओ के बीच करीब एक घंटे रहे। महिला-बच्चों से राखी बंधवाई और उनको गिफ्ट में फल-मिठाई भेंट किया। डीजीपी के जाते समय मदर टेरेसा की महिलाएं बोली आने के लिए ‘भईया थैंकू, अगली साल फिर आपका का इंतज़ार करेंगे।

डीजीपी ने सुरक्षा-सम्मान का दिया भरोसा
डीजीपी ओ पी सिंह ने इस अवसर पर महिलाओं, बच्चो से बात की और उनसे कई सवाल भी पूछे। डीजीपी ने राखी बंधवाते हुए बोले प्रदेश के समस्त पुलिस जनों को महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान का भरोसा भी दिलवाता हूँ। इस अवसर पर उन्होने कहा कि आज प्रदेश के समस्त जनपदों के पुलिस कर्मियों द्वारा महिलाओं एवं बच्चियों से राखी बंधवाई गयी एवं महिलाओं की सुरक्षा में आगे रहने के लिए संकल्प लिया गया।

महिलाओं की सुरक्षा एवं काउंसलिंग के लिए कार्यशाला का होगा आयोजन
डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि महिलाओं के अपराधों में कमी आयी है और निकट भविष्य में महिलाओं की सुरक्षा एवं काउंसलिंग के लिए एक कार्ययोजना तैयार की जा रही है। हमने यह मुहिम इसलिये चलायी है कि हमारी यह प्राथमिकता है कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करें। हम जब खाकी पहन लेते हैं तो हमारा दायित्व और भी बढ़ जाता है। वैसे तो प्रत्येक नागरिक का दायित्व है कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करे और महिलाओं के बारें में सोंचें। हमने निश्चय किया कि राखी जिस प्रकार प्रकार सुरक्षा का प्रतीक है, उसी प्रकार खाकी बहुत बड़े सुरक्षा के माहौल का प्रतीक है। खाकी न केवल राखी के दिन बल्कि हमेशा सुरक्षा की भावना पैदा करे यही मुहिम का उद्देश्य है।

डीजीपी ओपी सी सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज रक्षा बंधन के दिन हम लोगो ने सोचा कि क्यों न ऐसे लोगो के पास जाया जाए जिनके पास कोई सहारा नही है और न ही कोई सपोर्ट। उन्होंने कहा कि हम लोग चाहते हैं कि ऐसे सेंटर्स की देखभाल ठीक से होनी चाहिए अगर इसमे पुलिस डिपार्टमेंट की जरूरत पड़ती है तो इसके लिए उत्तर प्रदेश पुलिस जरूर आगे आएगी। उन्होंने इस काम मे आगे आने के लिए प्रदेश की जनता से भी अपील की। वही उन्होंने कहा कि मदर टेरेसा होम में मदर टेरेसा तीन बार आ चुकी है जो अपने आपमे एक व्यक्तित्व हैं इसलिए मैं अपने आपको सौभाग्यशाली मानता हूं। उन्होंने राखी विद खाकी की मुहिम शुरू करने की वजह बताते हुए कहा कि जब हम खाकी पहन लेते हैं तो हमारा महिला की सुरक्षा का दायित्व और भी बढ़ जाता है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close