NewsUttar Pradesh

यूपी के सरकारी स्कूल से हटा ‘इस्लामिया’, अंग्रेजों के जमाने से संचालित है इस्लामिया स्कूल

इन विद्यालयों की व्यवस्था का संचालन परिषदीय विद्यालयों की तरह है लेकिन, छुट्टी जुमे के दिन शुक्रवार को रहती है। रविवार को पढ़ाई होती है, पर अब ऐसा नहीं होगा।

एस0 डी0 शुक्ला
गोरखपुर/देवरिया। जिले के परतावल ब्लॉक के जद्दू पिपरा गांव में इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय संचालित होने का मामला प्रकाश में आने पर खंड शिक्षा अधिकारी परतावल सोमवार को वहां जांच करने पहुंचे। जांच में पता चला कि यह सरकारी स्कूल अंग्रेजों के जमाने से इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय के नाम से जाना जाता है। इन विद्यालयों की व्यवस्था का संचालन परिषदीय विद्यालयों की तरह है लेकिन, छुट्टी जुमे के दिन शुक्रवार को रहती है। रविवार को पढ़ाई होती है, पर अब ऐसा नहीं होगा।

हैरत कि बात है कि वर्ष 2015 के पहले तक यहां सभी रजिस्टर में सिर्फ उर्दू में सारी बातें लिखी जाती रहीं। इसके बाद रजिस्टर पर हिंदी भाषा का प्रयोग किया जाने लगा। स्कूल में तैनात शिक्षा मित्र शैलेश राय एवं शबनम बेगम ने बताया कि स्कूल में 82 बच्चे पंजीकृत हैं। सोमवार को 38 बच्चे पढ़ने आए। लंबे समय से यहां शुक्रवार को छुट्टी होती है। रविवार को बच्चे पढ़ने आते हैं। पुराने ढर्रे पर संचालित हो रहे स्कूल में व्यवस्था परिवर्तन को लेकर किसी अधिकारी ने कोई कार्रवाई नहीं की। शबनम बेगम ने बताया कि स्कूल का संचालन 1928 में शुरू हुआ। तभी से यहां शुक्रवार को छुट्टी होती है। उस वक्त ग्राम प्रधान हाजी जलालुद्दीन रहे। उनके कार्यकाल के दौरान यह स्कूल बना था।

हटाया गया इस्लामिया
हरकत में आए प्रशासनिक अधिकारियों ने देवरिया के छह में से पांच स्कूलों में इस्लामिया स्कूल का नाम मिटाकर प्राथमिक विद्यालय लिखवा दिया है। इसी तरह महराजगंज में संचालित हो रहे इस्लामिया स्कूल में भी अधिकारियों ने पहुंच कर रिकार्ड खंगाला। देवरिया में सलेमपुर के नवलपुर, भलुअनी के जैतपुरा, रामपुर कारखाना के करजहां, ईश्वरी पोखरभिडा, शामी पट्टी व देसही देवरिया में प्राथमिक विद्यालय की जगह इस्लामिया प्राइमरी स्कूल अंकित थे। इन विद्यालयों में शुक्रवार को अवकाश व रविवार को पढ़ाई होती थी पर अब ये अन्य विद्यालयों की तरह शुक्रवार को खुलेंगे व रविवार को बंद रहेंगे।

प्रधानाध्यापक को करना पड़ा विरोध का सामना
डीएम के निर्देश पर जैतपुरा, करजहां, ईश्वरी पोखरभिडा, शामी पट्टी में इस्लामिया प्राइमरी स्कूल को मिटाकर प्राथमिक विद्यालय लिखवाया गया। देसही देवरिया में प्रधानाध्यापक को गांववालों के विरोध का सामना करना पड़ा। इस कारण इस्लामिया शब्द नहीं हटवाया जा सका है। सुबह करीब 9.30 बजे जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार देव पांडेय ने प्राथमिक विद्यालय नवलपुर का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रधानाध्यापक खुर्शेद अहमद से पूछताछ की। बीएसए ने उपस्थिति पंजिका व अन्य पत्राचार पंजिका को हिंदी में पठनीय रूप से प्रयोग में लाने का निर्देश दिया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close