NewsPoliticsUttar Pradesh

युवाओं में अपार ऊर्जा और प्रतिभा होती है, केवल सकरात्मक दिशा मिले : CM योगी आदित्यनाथ

सीएम ने कहा कि अगर प्रदेश के किसी स्कूल में नकल होने की शिकायत पाई जाती है तो इसका दोषी मानते हुए कक्ष निरीक्षक से लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक स्तर के अधिकारी तक को जेल भेजा जा सकता है।

अखिलेश कुमार अग्रहरि & निखिल गुप्ता
गोरखपुर/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को गोरखपुर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान प्रदेश में नकलविहीन परीक्षा के मुद्दे पर कई बड़ी बातें कहीं। उत्तर प्रदेश में परीक्षा प्रणाली के सुधार के मुद्दे पर बात करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश में शैक्षिक माहौल को बेहतर बनाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। इसके साथ ही परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए भी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि शिक्षा को बढ़ावा देने और सभी को शिक्षित करने की दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही है, जिससे कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित ना रहने पाए। ऐसे में समाज साक्षर, सुन्दर, सक्षम और स्वच्छ हो और शैक्षिक वातावरण पूरे परिवेश में दिखे इसके लिए सभी को आगे आना होगा। वहीं कार्यक्रम में मेधावी छात्रों को सम्मानित के बाद सीएम ने कहा कि युवाओं में अपार ऊर्जा और प्रतिभा होती है और उनसे सिर्फ इतनी ही अपेक्षा होती है कि वह इसे सकारात्मक दिशा में लेकर जाएं। शिक्षा समाज के लिए सबसे आवश्यक है और शिक्षित बच्चे अपनी इसी असीम ऊर्जा से राष्ट्र का निर्माण करते हैं और इसे सशक्त भी बनाते हैं।

सीएम ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि अगर प्रदेश के किसी स्कूल में नकल होने की शिकायत पाई जाती है तो इसका दोषी मानते हुए कक्ष निरीक्षक से लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक स्तर के अधिकारी तक को जेल भेजा जा सकता है।

गोरखपुर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि सरकार की मंशा है कि परीक्षा केंद्र को औपचारिकता के रूप में नहीं बल्कि श्रद्धा के पवित्र केंद्र के रूप में विकसित किया जाए। साथ ही प्रदेश को 100 फीसदी साक्षर बनाने की दिशा में काम हो। उन्होंने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के उद्देश्य से नकलविहीन परीक्षा सम्पन्न कराई गई है, जिससे पठन पाठन का अच्छा माहौल बनाया जा सके। इसके अलावा अब यह भी व्यवस्था हुई है कि जिस परीक्षा केंद्र पर नकल की जानकारी मिलेगी, वहां के कक्ष निरीक्षक से लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक स्तर तक के अधिकारियों को जेल भेजा जाएगा।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close