NewsPoliticsUttar Pradesh

मुलायम सिंह यादव को सपा सांसद 14 करोड़ का बंगला कर सकते है भेंट!

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सभी पूर्व मुख्यमंत्री अपने लिए नया आशियाना तलाशने जुट गए हैं। राज्य संपत्ति विभाग ने भी अपनी ओर से सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को 15 दिन के भीतर बंगला खाली करने का नोटिस भेज दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने सरकार की ओर से बढ़ते दबाव के बाद अपने आशियाने की तलाश शुरू कर दी है। इस बीच सपा के राज्यसभा सांसद संजय सेठ ने गोमती नगर में मुलायम को 14 करोड़ रुपये का बंगला तोहफे में देने की घोषणा है। सूत्रों की मानें तो मुलायम सिंह यादव के सबसे करीबी संजय सेठ ने गोमतीनगर के विपुलखंड स्थित सृजन विहार में 11 हजार स्कवायर फीट में बनी एक कोठी मुलायम को दिखाई है। मुलायम को यह कोठी पसंद भी आई है, लेकिन सौदा अभी अटका हुआ है।

इस नोटिस में 15 दिनों के अंदर सरकार बंगला खाली करने को कहा गया है। पूर्व मुख्यमंत्री होने के कारण सपा के दो दिग्गज नेताओं संरक्षक मुलायम सिंह यादव और अध्यक्ष अखिलेश यादव को अपना सरकारी बंगला खाली करना है। दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों का बंगला लखनऊ में विक्रमादित्य मार्ग पर अगल-बगल ही था। इसी मार्ग पर सपा का कार्यालय भी है। दोनों आवासीय बंगले खाली हो जाने के बाद इस मार्ग पर अब केवल पार्टी कार्यालय ही रह जाएगा।

राज्य सम्पत्ति विभाग ने भाजपा के शासनकाल में मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह और राजनाथ सिंह, कांग्रेस के शासनकाल में मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी और बसपा सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को भी सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री एवं देश के मौजूदा मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह ने तो सरकारी बंगला खाली करने का ऐलान भी कर दिया है। वह गोमती नगर स्थित अपने निजी घर में शिफ्ट होने जा रहे हैं।

उधर सपा के सूत्रों का कहना है कि पार्टी के एक सांसद ने पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के लिए गोमतीनगर के विपुल खंड स्थित सृजन विहार में एक घर खरीदने की तैयारी कर ली है। यह घर लखनऊ के बाहर रहने वाले एक व्यापारी का है। सपा सांसद उससे यह घर मुलायम सिंह यादव को बेचने का अनुरोध कर रहे हैं। इससे पहले मुलायम सिंह यादव अपना बंगला बचाने का एक फॉमूला लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने गए थे।

उन्होंने अनुरोध किया था कि उनका बंगला विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन को आवंटित कर दिया जाए। वह यह भी चाहते हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का सरकारी बंगला विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता राम गोविन्द चौधरी को आवंटित कर दिया जाए। फिलहाल प्रदेश सरकार की ओर से कोई सकारात्मक संकेत न मिलने पर सपा ने अपने दोनों नेताओं के लिए नए आवास की तलाश तेज कर दी है।

राजनाथ सिंह का सामान सरकारी आवास से यहां हो रहा है शिफ्ट
राजनाथ सिंह आवास खाली करने वालों में पहले मुख्यमंत्री है। कालिदास मार्ग स्थित सरकारी बंगले से उनका सामान अब गोमती नगर में 2100 वर्ग फीट पर बने मकान में शिफ्ट हो रहा है। हालांकि मकान में मरम्मत का कार्य चल रहा है। लेकिन राजनाथ सिंह के आवास के पीआरओ की कहना है कि 15 दिन के नोटिस अवधि के भीतर ही गृहमंत्री राजनाथ सिंह सरकारी आवास छोड़ देंगे।

6 पूर्व मुख्यमंत्री खाली करेंगे बंगला
सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश का असर यूपी के 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों पर पड़ेगा। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी, कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह, मुलायम सिंह और मायावती को सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करना होगा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close