NewsUttar Pradesh

मुलायम के दोस्त पूर्व राज्यसभा सदस्य दर्शन सिंह यादव का इटावा में निधन

राज्य सभा के पूर्व सदस्य एवं केंद्रीय समाजसेवा के संस्थापक 76 वर्षीय बाबू दर्शन सिंह यादव का कल देर रात करीब तीन बजे निधन हो गया। समाजवादी पार्टी में दौड़ी शोक की लहर।

मयंक कुमार
इटावा। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ लंबे समय तक मोर्चा खोलने के बाद उनके बेहद करीब आए नेता दर्शन सिंह यादव का आज निधन हो गया। राज्यसभा के सदस्य रहे दर्शन सिंह यादव मुलायम सिंह यादव के खिलाफ इटावा के जसवंतनगर से विधानसभा चुनाव का लडऩे के कारण बेहद चर्चा में रहते थे। एक तरफ तो समाजवादी पार्टी में चाचा-भतीजे के बीच चल रही वर्चस्व की जंग से मुलायम सिंह यादव पहले ही टूट चुके हैं। इसी बीच शिवपाल सिंह यादव के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन के ऐलान से परेशान समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को एक और झटका लगा है।

दरअसल मुलायम सिंह यादव के दोस्त दर्शन सिंह यादव का ह्र्दयगति रुकने से देर रात निधन हो गया। उनके निधन से इटावा और आसपास के इलाकों में शोक की लहर है। लोगों का कहना है कि दर्शन सिंह यादव यादव परिवापर में चल रहे घमासान से काफी दुखी रहते थे। उन्हें अखिलेश-शिवपाल के बीच चल रही खींचातानी से भी काफी झटका लगा था और वह कई बार इन दोनों के बीच समझौता कराने की पहल भी कर चुके थे।

राज्यसभा सदस्य भी थे दर्शन सिंह यादव
केंद्रीय समाज सेवा समिति के नाम से संचालित एक संस्था के अध्यक्ष दर्शन सिंह यादव राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं। करीब 74 साल के दर्शन सिंह यादव की पहचान यहां समाजसेवक की रही है। दर्शन सिंह के भाई सोबरन सिंह यादव मैनपुरी जिले की करहल विधानसभा से लगातार दूसरी बार समाजवादी पार्टी से विधायक हैं। इससे पहले सोबरन सिंह भाजपा से भी एमएलए राह चुके हैं।

मैनपुरी से की थी पढ़ाई
दर्शन सिंह यादव का जन्म 31 जुलाई 1944 को इटावा जनपद के ग्राम बहादुरपुर हैवरा में एक संभ्रांत परिवार में हुआ था। इनके पिता कामता प्रसाद पेशे से किसान लेकिन बहुत ही उदार अनुशासनप्रिय रामचरितमानस के प्रति पूर्ण श्रद्धा वान और अध्यात्म के प्रति सदैव समर्पित रहते थे। दर्शन सिंह यादव का ने प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव के प्राथमिक पाठशाला हैवरा इटावा से ग्रहण की। गांव में आगे शिक्षण व्यवस्था न होने के चलते उन्होंने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा सीमावर्ती जनपद मैनपुरी के आजाद हिंद इंटर कॉलेज करहल से उत्तीण की।

बोलने में माहिर थे दर्शन सिंह यादव
आजाद हिंद इंटर कॉलेज करहल मैनपुरी में अध्ययन करते हुए दर्शन सिंह यादव की ललक देश की समस्याओं के प्रति जागृत हुई और तमाम आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक विकास संबंधी विषयों पर भाषण और वाद विवाद प्रतियोगिता में उन्होंने बढ़-चढ़कर भागीदारी की। साथ ही जनपद स्तर अंतर जनपद स्तर एवं प्रदेश स्तर पर उन्होंने एक बहुत ही उत्कृष्ट वक्ता के रूप में अपना स्थान बनाया। उस समय जनपद मैनपुरी के करहल कस्बे में कोई डिग्री कॉलेज न होने के कारण आगे की शिक्षा के लिए एक ही कॉलेज शिकोहाबाद में प्रवेश लिया और बीकॉम की परीक्षा उत्तीर्ण की।

दर्शन सिंह के तीन बेटे
दर्शन सिंह के तीन बेटे हैं। बड़े बेटे नागेंद्र प्रताप प्रमोशन पाकर आईएस हो गए हैं। उनकी गिनती प्रदेश के सबसे ईमानदार कर्तव्यनिष्ठ एवं शासन एवं कुशल प्रशासक के रूप में की जाती है। जबकि बाकी दोनों छोटे बेटे अपना घरेलू व्यवसाय देख रहे हैं। साल 2012 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर सपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने उन्हें राज्यसभा सदस्य मनोनीत किया।

जुझारू राजनीतिज्ञ थे दर्शन सिंह
आपको बता दें कि दर्शन सिंह यादव एक कर्मठ जुझारू राजनीतिज्ञ थे। जिन्होंने राजनीतिक के साथ-साथ समाज सुधार के लिए केंद्रीय समाज सेवा समिति का गठन किया। इसमें धूम्रपान निषेध, मृत्यु भोज, संयुक्त परिवार पर एक बड़ा अभियान चलाया था। जिसका खासा असर भी देखने को मिल रहा है। अब इस इलाके के लोग मृत्यु भोज से दूरी बनाते हुए शांति पाठ में यकीन करने लगे हैं। जिससे लोगो का बेजा खर्चा नहीं होता है।

राम गोपाल यादव ने जताया शोक
सपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्यसभा सदस्य दर्शन सिंह यादव के निधन पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने शोक जताया है। रामगोपाल यादव दर्शन सिंह यादव के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए इटावा पहुंचेगे। राम गोपाल यादव ने अपने शोक संदेश में दर्शन सिंह यादव के समाज को दिशा देने वाले प्रयासो की सराहना की है। उन्होंने कहा कि बाबू जी ने लगातार प्रयास करके समाज में अनंतकाल से व्याप्त कुप्रथा तेरहवीं को बड़े पैमाने पर रोकने में सफलता प्राप्त की। इसके लिए उन्हें सदैव याद रखा जाएगा।

शिवपाल यादव भी दुखी हुए
वहीं बाबू दर्शन सिंह के निधन पर शिवपाल सिंह यादव ने भी गहरा शोक जताया है। शिवपाल सिंह यादव राजधानी लखनऊ से बाबूजी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए इटावा के लिए रवाना हो गए हैं। अपने शोक संदेश में शिवपाल सिंह यादव ने बाबू दर्शन सिंह को सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने की दिशा में अलख जगाने वाला मसीहा बताया है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close