NewsUttar Pradesh

मुजफ्फरपुर : बालिका गृह कांड के विरोध में बिहार बंद, सुप्रीम कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान

मुजफ्फरपुर रेप केस पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान. आज लेफ्ट पार्टियों ने बिहार बंद बुलाया। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य से जवाब मांगा।

अखिलेश कुमार
नई दिल्ली। बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने इस केस को लेकर केंद्र और बिहार सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। बता दें कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप काडं में अब तक 34 बच्चियों के साथ बलात्कार की पुष्टि हो गई है। वहीं, आज मुज़फ़्फ़रपुर के शेल्टर होम में 34 लड़कियों से बलात्कार के विरोध में लेफ़्ट पार्टियों ने आज बिहार बंद बुलाया है। आरजेडी, कांग्रेस समेत कई दूसरे दलों ने इस बंद का समर्थन किया है। बंद के दौरान कई जगहों पर प्रदर्शनकारी चक्का जाम और रेल रोकते दिखे।


– आरोपी बृजेश ठाकुर

मालूम हो कि पुलिस ने 44 लड़कियों के बयान रेकॉर्ड किए थे। वहीं सूत्रों के अनुसार सीबीआई ने 2010 से लेकर 2018 के बीच ब्रजेश ठाकुर के एनजीओ और अखबार को मिले फंड की डीटेल राज्य सरकार से मांगी है। सूत्रों के अनुसार इसकी डीटेल आने के बाद सीबीआई उन अधिकारियों से भी पूछताछ कर सकती है जिन्होंने इस फंड को देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसके अलावा बिहार सरकार ने ब्रजेश के मान्यता प्राप्त पत्रकार होने की सारी सुविधाएं खत्म कर दी है।

राज्यपाल ने लिखा नीतीश को पत्र
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में बच्चियों से दरिंदगी के मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है। इस मामले को लेकर सूबे में सियासत गर्म है। संसद तक इसकी गूंज सुनाई दे रही है। उधर, अब इस मामले में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी अपनी चिंता जताई है। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री, चीफ जस्टिस और केंद्रीय कानून मंत्री को लिखे पत्र में प्रदेश में संचालित सभी आश्रय गृहों की निगरानी का सुझाव दिया है।

34 बच्चियों से हैवानियत
अभी तक की मेडिकल जांच में कम से कम 34 बच्चों के साथ रेप की पुष्टि हुई है। कुछ पीड़ितों ने कोर्ट को बताया कि उन्हें नशीले पदार्थ दिए जाते थे और मारा-पीटा जाता था। उसके बाद रेप किया जाता था। कइयों को पेट में दर्द की शिकायत बनी रहती थी। कुछ लड़कियां खुद को सुबह उठकर निर्वस्र पाती थीं। एक नाबालिग बच्ची ने पुलिस को बताया कि उसे रात को खाने के बाद सफेद और गुलाबी गोलियां दी जाती थीं जिसे खाकर वह सो जाती थी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close