NewsUttar Pradesh

बलात्कारियों को कम से कम फांसी की सजा होनी चाहिए

‘कोहिनूर ऑलवेज ब्राइट’ संस्था की महिलाओं ने प्रदर्शन कर बलात्कारियों के लिए फांसी की माँग की और कहा कि बलात्कारियों का कोई धर्म-जाति नही होती है।

“नारी के सम्मान में कोहिनूर मैदान में।”

दीप्ति सचदेवा
झांसी। देश में महिलाओं और बच्चों के साथ आये दिन हो रहे रेप की घटनाओं पर समाजसेवी संस्थाएं बलात्कारियों के विरुद्ध प्रदर्शन करती रहती हैं। परंतु समय के साथ ही साथ सरकार और प्रशासन उन घटनाओं को भूल जाती है। फिर नयी घटना होते ही सभी जागते है वक़्त के हिसाब से कैंडल मार्च, धरना प्रदर्शन अपने-अपने बैनर तले प्रदर्शन करने लगते है।

दुष्कर्म की घटना ने पूरे देश को हिला दिया है। इसके पहले चार साल पूर्व झांसी के शिवाजी नगर की एक बच्ची को भी रेप के बाद मौत की नींद सुला दिया गया था। अब जब रेप की घटनाएं बढ़ रहीं हैं तो ‘कोहिनूर ऑलवेज ब्राइट’ संस्था की महिलाओं ने इलाईट चौराहे पर प्रदर्शन किया। रेपिस्ट के प्रति गुस्सा इन महिलाओं की आंखों में साफ दिख रहा था। अपनी अस्मिता की हिफाजत के लिए यह कुछ भी कर गुजरने को तैयार थीं।

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहीं कोहिनूर संस्था की प्रमुख वैशाली पुंशी कहती हैं, ये क्या हो गया है समाज को। हमारी फूल जैसी बच्चियों को हवस का शिकार बनाया जा रहा है। हमारा कानून इतना लचीला है या फिर पुलिस की पकड़ ढीली हो गई है। बच्चियां, छात्राएं और महिलायें अब अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रही हैं। देश और प्रदेश में भले ही सरकार किसी की भी हो, लेकिन अपराध के प्रति खासतौर पर बलात्कार की घटनाएं सरकार के दावों की पोल खोल रही है। हम महिलाएं दरिंदों को इतनी आजादी नहीं दे सकते। हमारी आखों की नूर को नोंचा जाएगा तो कोहिनूर की ये टीम चुप नहीं रह सकती।

संस्था की सदस्य भूमिका सिंह कहती हैं, हाल ही में मासूम बच्चियों के साथ दरिन्दों ने जो हैवानियत की हदें पार की हैं वह रूह कंपा देने वाली है। इन दरिन्दों को सरेआम फांसी दिए जाने की भी सजा कम है।

वैशाली पुंशी तो यहां तक कहती हैं, कुछ सिरफिरे इंसानी भेडिय़ों के मन में पैदा हुए इस विकृत और भयानक वायरस का पूरा उपचार किए बिना मासूमों की सुरक्षा संभव नहीं है। सरकार इस पर कोई ठोस पहल करे नहीं तो हम रानी लक्ष्मीबाई के शहर की महिलाएं हैं। हम अपनी बच्चियों की सुरक्षा की खातिर अपना कानून खुद तैयार कर लेंगे। जिसकी सजा भी बहशी दरिंदों की रूह कपा देने वाली होगी।

इस मौके पर कोहिनूर ऑलवेज ब्राइट की अध्यक्षा वैशाली पुन्शी, सचिव आबिदा खान,सह सचिव भूमिका सिह,कोषाध्यक्ष सिमरन चड्डा, आनंद, मीनू कुरैशी, बबली खान, जितेंद्र पुन्शी, फिरोज खान, योगेश सिंह, आनंद, संजय चड्डा, मनमोहन, सुमन आदि उपस्थित रहे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close