IndiaNews

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को दिया जाएगा ‘भारत रत्न सम्मान’

प्रणब मुखर्जी के अलावा नाना जी देशमुख और भूपेन हजारिका को भी मरणोपरांत भारत रत्न देने की घोषणा की गई है। प्रणब मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति रह चुके हैं।

नेहा पाठक
नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न सम्मान देने का एलान किया गया है। प्रणब मुखर्जी के अलावा नाना जी देशमुख और भूपेन हजारिका को भी मरणोपरांत भारत रत्न देने की घोषणा की गई है। प्रणब देश के 13वें राष्‍ट्रपति थे और 2012 से 2017 तक इस पद पर रहे थे। राष्‍ट्रपति बनने से पहले वे कई दशकों तक कांग्रेस के मजबूत स्‍तंभ रहे और वे इंदिरा गांधी के साथ भी काम कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रणब मुखर्जी को भारत रत्‍न दिए जाने के ऐलान पर खुशी जताई है। उन्‍होंने ट्वीट कर बताया, ‘प्रणब दा हमारे समय के एक शानदार नेता हैं। उन्‍होंने निस्‍वार्थ और बिना थके दशकों तक देश की सेवा की है इसने देश की विकास की दशा पर एक मजबूत निशान छोड़ा है। उनके जैसा बुद्धिमान और बुद्धिजीवी काफी कम लोग है।

प्रणब मुखर्जी ने 25 जुलाई 2012 को भारत के 13वें राष्ट्रपति के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली थी। प्रणब मुखर्जी ने किताब ‘द कोलिएशन ईयर्स ‘1996-2012’ लिखी है।

प्रणब मुखर्जी को साल 2008 के दौरान सार्वजनिक मामलों में उनके योगदान के लिए भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से नवाजा जा चुका है। इतना ही नहीं मुखर्जी को साल 1997 में सर्वश्रेष्ठ सांसद का अवार्ड भी मिला था।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close