CrimeNewsUttar Pradesh

पुलिस की मुस्तैदी से अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटा बच्चा

कानपुर पुलिस ने दिखाई सक्रियता, डरे अपहरणकर्ता बच्चे को बस में बैठा कर फरार हो गए।
पांच करोड़ की मांगी थी फिरौती।

सौरभ शुक्ला
कानपुर नगर। यूपी के कानपुर में एक निजी स्कूल के छात्र को बाइक सवार बदमाशों ने सोमवार को अपहरण कर लिया था। अपहरण का मामला सामने आने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। काकादेव थाना क्षेत्र निवासी एक हॉस्टल संचालक के बेटे का हथियार बंद बदमाशों ने दिन दहाड़े अपहरण कर लिया। आरोपियों ने बच्चे के पिता को फोन कर पांच करोड़ रुपए की डिमांड की। पुलिस से शिकायत करने पर जान से मारनी की धमकी दी। बेटे के अगवा होने की जानकारी जैसे ही परिवार को हुई तो घर में कोहराम मच गया। पीडि़त परिवार ने थाने जाकर पुलिस से शिकायत दर्ज कराई।

सूचना मिलते ही कई थानों की पुलिस के साथ अधिकारी घटना स्थल पर पहुँचे और घटना की छानबीन करने में जुट गए। एसटीएफ और क्राइम ब्रान्च को भी एसएसपी ने इस घटना में लगा दिया। पुलिस की घेरेबंदी से बदमाश घबरा गए और बच्चे को फतेहपुर जा रही बस में बैठाकर मौके से भाग खड़े हुए। पुलिस बच्चे को फहेतपुर से बरामद कर आरोपियों के गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।

तमंचे के बल पर किया था अपहरण
काकादेव थाना क्षेत्र निवासी मंजीत शुक्ला हॉस्टल संचालक का कारोबार करते हैं। मंजीत का इकलौता बेटा आदित्य (9) हर दिन की तरह ई रिक्शा से अपने स्कूल ओम्कारेश्वर सरस्वती विद्या मंदिर जा रहा था। उसके साथ चार बच्चे और भी बैठे थे। आदित्य का ई रिक्शा जैसे ही लाजपत नगर नहर पर पहुंचा तो वहां पहले से घात लगाकर बैठे अपहरणकर्ताओं ने इलाका सूनसान देखकर ई रिक्शा चालक को तमंचा सटाकर ई रिक्शा रोक लिया और आदित्य को जबरन ई-रिक्शा से उठा लिया और बाइक से लेकर फरार हो गए। घटना के कुछ देर बाद ही अपहरणकर्ताओं ने आदित्य के पिता मंजीत को फोन से पांच करोड़ की फिरौती मांगी। अपहरण और फिरौती की जानकारी लगते ही आदित्य के घर में कोहराम मच गया।

नाकेबंदी के चलते बच्चे को बस में बिठाया
अपहरण होने के बाद मौके पर पहुंचे एसएसपी अखिलेश मीणा और बच्चे के परिजनों ने मीडिया से गुजारिश की कि आप लोग खबर मत चलाइयेगा इससे बच्चे की जान को ख़तरा हो सकता है, हम जल्द ही बच्चे को खोज लेंगे। इसके बाद एसएसपी ने तत्काल शहर की नाकेबंदी के निर्देश दिए और सभी चौराहों पर पुलिस की सघन चेकिंग के आदेश दिए। पुलिस की लगातार बढ़ रही नाकेबंदी और चेकिंग से घबराये अपहरणकर्ताओं ने बच्चे को कानपुर से फतेहपुर जा रही बस में बैठा दिया और फरार हो गए। फिलहाल पुलिस ने बच्चे को फतेहपुर से सकुशल बरामद कर लिया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक़ बच्चे का अपहरण प्रतापगढ़ निवासी उसके नौकर ने अपने साथी के साथ मिलकर किया था।

नौकर ने रचा थी सजिश
बच्चे की बरामदी के बाद उससे पुलिस ने पूछताछ की तो उसने घर में काम करने वाले नौकर का नाम बताया। पुलिस सूत्रों की मानें तो नौकर ने प्रतापगढ़ से अपने दो अन्य साथियों के साथ बच्चे के अपहरण का प्लॉन बनाया था। तीनों ने बच्चे का अपहरण भी कर लिया, लेकिन पुलिस के एक्शन में आने के बाद वह डर गए और उसे बस में बैठाकर फरार हो गए। एसपी कानपुर ग्रामीण अशोक वर्मा ने बताया कि पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। साथ ही अपने तरीके से मामले की जांच भी कर रही है। वहीं बच्चे के मिलने से परिवार में खुशी का महौल है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close