IndiaNews

न्यास प्रचार प्रसार प्रमुख की अखिल भारतीय बैठक ग्वालियर में, संपूर्ण भारत के प्रतिनिधि हुये शामिल

सर्वोत्तम तिवारी
मध्यप्रदेश ग्वालियर। शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास की “प्रचार-प्रसार प्रमुख” अखिल भारतीय बैठक 25 अगस्त को मध्यप्रदेश के ग्वालियर में संम्पन्न हुई। कानपुर प्रांत के (प्रचार-प्रसार) का दायित्व संभाल रहे प्रांतीय संयोजक प्रचार-प्रसार सर्वोत्तम तिवारी एवं न्यास की कानपुर प्रांत की संयोजक डॉ0 बिंदु भी इस बैठक में शामिल हुये| सरस्वती शिशु मंदिर सरस्वती नगर, थाटीपुर, ग्वालियर में आयोजित हुई इस अखिल भारतीय बैठक के मुख्य अतिथि मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व शिक्षा मंत्री जय भान सिंह पवैया मंच पर उपस्थित रहे। शिक्षा मंत्री पवैया ने कहा कि अपने कार्यकाल में मंच से दिये गये उद्बोधन में हमने न्यास के स्लोगन “देश को बदलना है तो शिक्षा को बदलो….” हमने जहाँ-जहाँ और जब-जब भी बोला, हमेशा सबसे ज्यादा तालियाँ इसी स्लोगन पर बजती थीं जो कि न्यास की देन थी। उन्होंने कहा ये स्लोगन हमने न्यास के साहित्य में पढ़ा और याद करके अपने भाषण के दौरान बोला। मंत्री ने न्यास के कार्यों, नीतियों और उद्देश्यों की सराहना की, और कहा शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास भारतवर्ष में शिक्षा जैसे विषय पर बहुत अच्छा कार्य कर रहा जो राष्ट्र की प्रगति के लिये एक सार्थक कदम है। शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के (राष्ट्रीय सचिव) भाई अतुल कोठारी के सानिध्य में आयोजित इस अखिल भारतीय बैठक में संपूर्ण भारत वर्ष में न्यास के (प्रचार-प्रसार) का दायित्व निभा रहे अलग-अलग राज्यों से 14 प्रान्तों के (प्रांतीय संयोजक प्रचार-प्रसार) सदस्यों सहित लगभग 27 सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में प्रान्तों में हो रही न्यास की गतिविधियों पर विस्तृत चर्चा की गई। न्यास की नीतियों और उद्देश्यों की चर्चा के साथ बैठक के दौरान निकट भविष्य में विभिन्न स्थानों/प्रान्तों/राज्यों में न्यास के होने वाले कार्यक्रमों के बारे में जानकारी व आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये गये। इस दौरान शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के राष्ट्रीय सचिव अतुल कोठारी, (राष्ट्रीय संयोजक) प्रचार-प्रसार अथर्व शर्मा, मेरठ प्रांत के संयोजक समीर कौशिक, राष्ट्रीय संयोजक शिक्षा उत्थान पत्रिका जुगुल किशोर, कानपुर प्रांत की संयोजक डॉ० बिंदू, सहित केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली, झाबुआ, ग्वालियर, सागर, महाकौशल, जबलपुर, कानपुर, मेरठ पंजाब भोपाल, नोयडा, मध्यप्रदेश, सहित एक दर्जन से अधिक प्रान्तों केप्रांतीय प्रचार-प्रसार प्रमुख उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close