IndiaNews

दुष्कर्म तो दूर की बात, मैं तो इस बारे में सोच भी नहीं सकता : दाती महाराज

शिष्या के साथ रेप के आरोपी दाती महाराज ने पूछताछ में कहा कि दुष्कर्म तो दूर की बात, मैं तो इस बारे में सोच भी नहीं सकता। कोर्ट ने 21 जून तक रिपोर्ट मांगी तो पुलिस ने मंगलवार को ही बुला लिया। भूमिगत दाती अचानक हाजिर, 7 घंटे पूछताछ के बाद पुलिस ने छोड़ा। पूछताछ की वीडियोग्राफी भी कराई गई है।

मनप्रीत कौर
नई दिल्ली। शिष्या के साथ दुष्कर्म के आरोपी दाती मदन मंगलवार को अचानक वकील पीसी पांडे के साथ चाणक्यपुरी स्थित क्राइम ब्रांच पहुंचा। यहां सात घंटे तक बाबा से 100 से ज्यादा सवाल पूछे गए। सवाल-जवाब के दौरान दाती कभी घबराया नजर आया तो कभी हंसते हुए जवाब दिया। उसका कहना था कि जो युवती खुद को दुष्कर्म पीड़िता बता रही है, वह बेटी के सामान है। दुष्कर्म तो दूर की बात वह उसे गलत नजर से भी नहीं देख सकता। साथ ही कहा कि मेरे खिलाफ साजिश में लड़की तो सिर्फ मोहरा है। इस पूछताछ की वीडियोग्राफी भी करवाई गई। हालांकि, पुलिस कुछ जवाबों से संतुष्ट नजर नहीं आई। पुलिस ने रात 10 बजे उसे छोड़ दिया। शुक्रवार को फिर पूछताछ के लिए बुलाया है। दाती को सोमवार को पूछताछ के लिए पेश होना था, लेकिन वह नहीं पहुंचा था।


< strong>आनन-फानन में पुलिस ने बाबा को पेश होने का फरमान जारी कर दिया था
दरअसल, इसके पीछे की कहानी साकेत कोर्ट से जुड़ी है। कोर्ट में एक शिकायत दर्ज कराई गई है, जिसमें पुलिस पर इस मामले में कार्रवाई में देरी का आरोप लगाया गया है। इस पर कोर्ट ने क्राइम ब्रांच के जांच अधिकारी से 21 जून तक स्टेटस रिपोर्ट तलब की है। ऐसे में आनन-फानन में पुलिस ने बाबा को मंगलवार को ही पेश होने का फरमान जारी कर दिया था।

एक बार वकीलों की मौजूदगी में पूछताछ, दूसरी बार अकेले में
दाती साउथ दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में ठहरा था। दोपहर करीब 3 बजे वह वकील और दो अन्य लोगों के साथ चाणक्यपुरी स्थित क्राइम ब्रांच पहुंचा। वह अपनी परंपरागत वेशभूषा में था।

उसे पूछताछ के लिए पहली मंजिल पर बने कमरे में ले जाया गया, जहां डीसीपी क्राइम राजेश देव, एसीपी जसबीर सिंह, इंस्पेक्टर रितेश कुमार मौजूद थे। पहली बार हुई पूछताछ के वक्त बाबा के साथ उसके वकील भी मौजूद थे। दूसरी बार अफसरों ने उनसे अकेले में पूछताछ की।

वह ताे मेरी बेटी जैसी- दाती महाराज
दाती के मुताबिक, “मैं राष्ट्रीय सेवक हूं, ना कि भगोड़ा। मैंने कोई गलत काम नहीं किया, मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। मुझे पुलिस ने जांच में शामिल होने के लिए बुलाया था, लेकिन मैं एक दिन से पहले आ गया। आगे भी जब-जब पुलिस बुलाएगी, मैं पूछताछ के लिए हाजिर रहूंगा।”

बाबा के अन्य सहयोगी से पूछताछ की जाएगी
दाती के खिलाफ फतेहपुर बेरी थाने में 10 जून को दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया था। फिलहाल इस केस की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है। कई दिनों से वह पुलिस से बचता फिर रहा था। इस बीच पुलिस ने दिल्ली और राजस्थान में पाली स्थित आश्रम पहुंचकर जांच पड़ताल की। इस दौरान पीड़िता भी पुलिस के साथ थी। मामले में दाती के साथ चार अन्य आरोपी बनाए गए हैं। दुष्कर्म का दो साल पुराना मामला होने से पुलिस भी हर कदम सोच समझकर रख रही है। अब दूसरे चरण में बाबा के अन्य सहयोगी आरोपियों से पूछताछ की जाएगी। पुलिस अब पीड़िता द्वारा लगाए गए आरोप और दाती द्वारा दिए गए जवाब का विश्लेषण करेगी। उन्हें वेरिफाई किया जाएगा कि इनमें से कौन झूठ बोल रहा है।

इस मामले की शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा मामले की जांच में जुटी है। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस छतरपुर सहित आरोपित के पाली स्थित आश्रम की भी जांच कर चुकी है। दर्जनों लोगों से पूछताछ के साथ ही दुष्कर्म से संबंधित साक्ष्य जुटाए गए हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close