NewsUttar Pradesh

तीन जनपद से अरबों की ठगी करने वाले ‘हमारा मिशन ग्रुप’ को कब पकड़ेगी पुलिस

पीड़ितों को इंसाफ दिलाने में सांसद-विधायक क्यों नही आ रहे हैं सामने। कहीं राजनीतिक संरक्षण तो नही बचा रहा ठग को।

परवेज आलम
फतेहपुर। जनपद के सुल्तानपुर घोष थाना अंतर्गत खजरियापुर गाँव में नवम्बर 2015 से हमारा मिशन ग्रुप नाम की चिट फंड कंपनी लोगों का अरबों रुपया लेकर फरार हो गयी , लेकिन ये मामला जिले के अंदर ही दब कर रह गया है अगर गौर फ़रमाया जाए तो मालूम पड़ता है कि ये ठगी सिर्फ फतेहपुर जनपद तक ही सीमित नही थी ठगों ने अपना जाल इलाहाबाद, कौशाम्बी में भी फैला रखा था।

फतेहपुर जिले के तहसील-खागा के अंतर्गत ऐरायां ब्लॉक की ग्राम सभा-ऐरायां सादात के गाँव-खजरियापुर के रहने वाले मंगल प्रसाद मौर्या के बड़े बेटे राजेश मौर्या के द्वारा ‘हमारा मिशन ग्रुप’ नाम की चिट फंड कंपनी के बैनर तले तीन जनपद में की गई करोड़ो की ठगी किसी से छुपी नही है फ्राड का मुकदमा होने के बावजूद ठगों का सरदार पूरी टीम के साथ सन 2016 से फरार है जिसे पुलिस नही पकड़ पा रही है। और न ही पीड़ित पक्षकारों की लड़ाई को कोई आगे आ रहा है।

वैसे चिट फंड कंपनियों का ये कोई पहला घोटाला नहीं है इससे पहले भी देश में कई चिट फंड कंपनियों द्वारा घोटाला किया गया है जिनमें से कुछ के मामले अभी भी जाँच के अंतर्गत विचाराधीन हैं, हाल ही में पूरे देश में शारदा चिट फंड घोटाला खूब चर्चित रहा है जिसको लेकर पश्चिम बंगाल में सरकार हिल गई थी वहां सरकार तथा विपक्ष (माकपा) के बीच खूब बयानबाजियां और पोस्टर बाजियां भी होती रहीं हैं।

एक का दो और दो का चार बनाने का दावा करने वाली चिट फंड कंपनियां कुछ ही समय में लोगों को लखपती बनाने का दावा करती हैं, इसी लालच में अच्छे पढ़े लिखे लोग ऐसी कंपनियों के झाँसे में आ जाते हैं जिसमें भोले -भोले सामान्य व्यक्तियों के अलावा कई बुद्धजीवी वर्ग भी फंस जाते हैं, ऐसी चिट फंड कंपनियों का जाल पूरे देश में फैला है।

बंगाल सहित अन्य राज्यों में चिट फंड कंपनियों के घोटाले विधानसभा में खूब गूंजे वहाँ के विधायकों या जनप्रतिनिधियों ने जनता के हित की लड़ाई बढ़ चढ़ कर लड़ी, लेकिन फतेहपुर जनपद में ठगी के शिकार किसान, मजदूर,और बेरोजगार नौजवानो को इंसाफ दिलाने के लिए या उनकी लड़ाई लड़ने के लिए कोई जनप्रतिनिधि या विधायक सामने नही आया इससे ये पता चलता है कि जिले के सांसद और विधायक को जनता के हित की जरा भी फिकर नही है, या फिर ऐसा भी हो सकता है ठग राजेश मौर्या को सांसद विधायको का संरक्षण प्राप्त रहा हो।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close