IndiaNews

डाकिया डाक के साथ अब ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का भी देंगे संदेश : डाक निदेशक केके यादव

डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि मात्र 250 रूपये में सुकन्या खाता खोला जा सकता है और इसमें अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। अब डाकिया डाक बाँटने के साथ-साथ भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का भी प्रचार-प्रसार करेंगे। लखनऊ (मुख्यालय) परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इसके लिए पोस्टमैन अपनी वर्दी पर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का बैज लगाकर डाक वितरण करेंगे, ताकि लोग इसके प्रति जागरूक हो सकें। इसके अलावा डाकिया लोगों को सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में भी जागरूक करेंगे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनवरी, 2015 में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान का आरम्भ किया था और इसके तहत सुकन्या समृद्धि योजना का आगाज किया था। इसके तहत किसी भी डाकघर में दस साल तक की बालिकाओं का सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा सकते है। डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि मात्र 250 रूपये में सुकन्या खाता खोला जा सकता है और इसमें अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं। इस योजना में खाता खोलने से मात्र 15 वर्ष तक धन जमा कराना होगा। बेटी की उम्र 18 वर्ष होने पर जमा राशि का 50 प्रतिशत व सम्पूर्ण राशि 21 वर्ष पूरा होने पर निकाली जा सकती है। वर्तमान में ब्याज दर 8.5 प्रतिशत है और जमा धनराशि में आयकर छूट का भी प्रावधान है। श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लगभग 15 लाख बेटियों के सुकन्या खाते डाकघरों में खोले जा चुके हैं।

डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुडा हुआ है। इस योजना के आर्थिक के साथ-साथ सामाजिक आयाम महत्वपूर्ण हैं। इसमें जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर एवं विवाह में उपयोगी होगी। यह योजना बालिकाओं के सशक्तिकरण के द्वारा भविष्य में महिला सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close