NewsUttar Pradesh

उत्तर प्रदेश : जालौन जिले के कालपी के आसपास आज भी जारी है गौकशी का अवैध कारोबार

भारी मात्रा में गौवंश छोड़कर भागे गौहत्यारे। गाय के कटे हुए अंग, बोरों में भरे गौमांस व 1 बोरा गाय की खालों को पुलिस ने जेसीबी की मदद से करवाया दफन। खेतों पर चल रहा था गायों का कत्लेआम। पुलिस के आने से लोडर भर गौमांस लेकर गौहत्यारे हुए भागने में कामयाब।

शिवांग शुक्ला
कालपी (जालौन)। मुद्दा गाय का नही बल्कि गौहत्या का है क्योंकि अभी कोई चुनाव नही हैं, शनिवार की भोर सुबह कालपी कोतवाली क्षेत्र में भारी तादाद में बन्द बोरों में मिले गौवंश, गौकंकाल व गायों की चमड़ी इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि ग्राम गुलौली व आसपास क्षेत्र में बड़े पैमाने पर गौवंश का व्यापार बदस्तूर जारी है।

घटनास्थल पर पहुँचे बजरंग दल के दीपक शर्मा व हिन्दू जागरण मंच के नीलाभ शुक्ला ने बताया कि ग्राम गुलौली क्षेत्र में लोहरगांव के पशुपालक अपनी भैसों को ढूंढ रहे थे, तभी ऐसी जगह पहुँच गए जहाँ खेतों पर गायों का कत्लेआम चल रहा था। ग्रामीणों द्वारा डायल 100 को सूचना दी गयी सूचना, पुलिस के आने से लोडर भर गौमांस लेकर गौहत्यारे भागने में सफल हो गए। गाय के कटे हुए अंग, बोरों में भरे गौमांस व 1 बोरा गाय की खालों को पुलिस ने जेसीबी की मदद से गड्ढा खुदवाकर दफन करवाया।

शनिवार सुबह रायड़ के पुल के पास से गौकशी के मिले प्रमाण को प्रशासन ने भले ही मिट्टी डालकर जमीन में मिट्टी से दफन कर दिया हो, किन्तु शासन प्रशासन की मंशा व सख्ती के बाद भी खुलेआम इस तरह के कृत्य उजागर होने से कहीं ना कहीं शासन प्रशासन की ढील स्पष्ट ज़ाहिर होती है।

बड़ी संख्या में हुईं गौहत्याएं व लोडर भर गौमांस लेकर भागे गौहत्यारे
घटनास्थल पर मौजूद ग्रामीणों ने पत्रकारों को बताया कि यह क्षेत्र गौहत्या का गढ़ है व ग्राम गुलौली, मोहारी व रायड नाले के आसपास का क्षेत्र गौहत्या का गढ़ है, यह बात शासन प्रशासन से भी छिपी नही है किंतु इसके बावजूद यहां गायों का कत्लेआम लगातार होता रहा है, लेकिन फिरभी यहां किसी तरह की कोई निगरानी छापेमारी नही की जाती व जिम्मेदारों की मिलीभगत से ही गौहत्या का पूरा का अवैध व्यापार संचालित किया जाता है, शनिवार की भोर सुबह रायड़ पुल के पास गायों का कत्लेआम बड़े पैमाने पर किया जा रहा था, पुलिस को सूचना दी गयी, पुलिस उन पर शिकंजा कस पाती उससे पहले ही गौहत्यारे गौवंश से भरा लोडर लेकर मौके से फरार हो गए, इसके बावजूद कई बोरे गौवंश, गौ कंकाल व गाय के चमड़ी पुलिस ने बरामद कर जमीन में दफन करवा दीं।

इस मामले में घटनास्थल पर पहुँचे कोतवाली इंचार्ज सुधाकर मिश्रा ने बताया कि दोषियों को बख्शा नही जाएगा व उक्त मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर लिया जाएगा व दोषियों की तलाश जारी है जल्द ही वे कानूनी शिकंजे में होंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close