NewsPoliticsUttar Pradesh

‘जनाक्रोश रैली’ में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) ने दिखाई ताकत

रैली में आए लोगों का जिक्र करते हुए मुलायम सिंह यादव ने कहा कि 80 फीसदी नौजवान हैं। यही नौजवान प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को मजबूत करेंगे।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) की जनाक्रोश रैली में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी शामिल हुए। सिर पर समाजवादी पार्टी की टोपी पहने मुलायम ने कहा कि जितनी बड़ी सभा हुई है, इतनी बड़ी सभा कभी नहीं हुई।

जनाक्रोश रैली में अपने संबोधन में मुलायम सिंह यादव ने दिल्ली में होने वाली कांग्रेस और विपक्षी दलों की बैठक का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कल दिल्ली में सभी दलों की बैठक है। आज देश के सामने गंभीर समस्या है। साम्प्रदयिक शक्तियां फिर से सर उठा रही हैं। देश की जमीन पर पाकिस्तान और चीन कब्जा कर रहे हैं। मेरा जाना अनिवार्य है।

इसके बाद उन्होंने कहा कि हमारी समाजवादी पार्टी के सामने चुनौती है। समाजवादी पार्टी सबको इंसान मानती है। सीमा पर बहुत से जवान शहीद हो रहे हैं। हमारी सेना बहुत मजबूत है। देश के सामने गरीवी है। चीन ने हमारे जमाने मव चीन ने एक किलोमीटर कब्जा किया था। हमारी फौज चीन में घुस गई थी।

रैली में आए लोगों का जिक्र करते हुए मुलायम सिंह यादव ने कहा कि 80 फीसदी नौजवान हैं। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को मजबूत करेंगे। आज समाजवादी पार्टी के सामने इतनी बड़ी चुनौती है। जो हिंदुस्तान को फूटी आंखों नहीं देखना चाहते। हमारी सेना के पास हथियार नहीं था, चीनियों को पटक-पटक के मारा था। किसानों को पैदावार बढ़ानी है। नौजवान के पास नौकरी नहीं है। आप के हाथों में देश की बागडोर आने वाली हैं। जनता की नजरों में अच्छे नौजवान बनाओ। मुलायम बोले कि समाजवादी पार्टी की सरकार बना लेना। सबको जिता लेना,जितनी बड़ी सभा हुई है, इतनी बड़ी सभा कभी नहीं हुई।

रैली के दौरान शिवपाल यादव के निशाने पर बीजेपी भी रही। उन्‍होंने कहा कि देश से बीजेपी को हटाने के लिये उनकी पार्टी तैयार है। इस समय देश पर अरबों रुपये का कर्ज है। हजारों वर्ग मील जमीन पर पाकिस्तान और चीन का कब्जा है। उन्‍होंने कहा, प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि उनका 56 इंच का सीना है जो अब एकाध इंच बढ़कर 57 इंच हो गया होगा लेकिन आपके सीने में दम नहीं है। पाकिस्तान तक का कब्जा बढ़ता जा रहा है।

उन्‍होंने कहा, देश को फिर से दंगे में झोंकने की साजिश रची जा रही है। नेताजी (मुलायम) आप मुख्यमंत्री थे, तब अक्टूबर 1989 में आपने बाबरी मस्जिद को बचाया था लेकिन 1992 में क्या हुआ ? हम देश को फिर दंगे में नही झोंकने देंगे। रैली के दौरान मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव ने कहा, यह परिवर्तन की लड़ाई है। मैं आभारी हूं चाचा जी (शिवपाल) का जिन्होंने मुझे यहां बुलाया। मैं तन, मन के साथ खड़ी हूं।

शिवपाल बेटे आदित्‍य यादव भी मंच पर नजर आए। उन्‍होंने कहा, आज दिल्ली-यूपी में ऐसी सरकार है जो कहती है आप हमें वोट दो, हम हिन्दू-मुस्लिम डिबेट देंगे। बेरोजगारी, सुरक्षा, किसानों के सवाल पर चुप्पी है। शहरों के नाम बदले जा रहे हैं। अरे दम है तो नए शहर बसाओ, तब विकास की बात करो। आजकल समाजवाद की बात कई दल करते हैं लेकिन समाजवाद के लिए काम कितने करते हैं।

इस रैली को सरकार की असफलताओं के खिलाफ ‘जनाक्रोश रैली’ का नाम दिया गया है लेकिन इसकी रंगत शिवपाल का वह ‘इकबाल’ तय करेगी, जिसे अब भी बुलंद होने का दावा उनके समर्थक कर रहे हैं। यही वजह थी कि टीम शिवपाल ने रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी और लाखों लोगों के पहुंचने का दावा किया था। शिवपाल की कोशिश यह साबित करने की है कि वह असली लोहियावादी हैं, अखिलेश नहीं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close