BusinessIndiaNewsUttar Pradesh

उत्तर प्रदेश CM ने ‘हॉयर इण्डिया’ नॉर्थ इण्डस्ट्रियल पार्क के 3डी मॉडल का किया अनावरण

उत्तर प्रदेश सरकार के साथ ग्रेटर नॉएडा में अपने दूसरे औद्योगिक पार्क के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया, हायर के साथ उत्तर प्रदेश सरकार का हुआ 3069 करोड़ रु० का समझौता।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। हायर ने ‘मेक इन इंडिया’ पहल के लिए अपनी प्रतिबद्धता को स्थानीय उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए दोहराया। इस समझौता ज्ञापन यानि एम0ओ0यू के हस्ताक्षर के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तर प्रदेश सरकार के अन्य प्रतिनिधि शामिल रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के सतत प्रयास से उत्तर प्रदेश में निवेश अनुकूल वातावरण तैयार हुआ है। इससे राज्य में बड़ी संख्या में निवेश के इच्छुक औद्योगिक संस्थान अपने प्रतिष्ठान स्थापित कर रहे हैं। देश और प्रदेश के हित में, राज्य सरकार की नीतियों के अनुरूप कोई भी व्यक्ति या संस्थान प्रदेश में निवेश कर सकता है। प्रदेश सरकार ऐसे निवेशकों और औद्योगिक संस्थानों को सभी सम्भव सहयोग उपलब्ध कराएगी।

सीएम ने अपने सरकारी आवास पर हॉयर कम्पनी और राज्य सरकार के मध्य एक एम0ओ0यू हस्ताक्षर समारोह में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स आलोक सिन्हा तथा हॉयर इण्डिया के प्रेसिडेण्ट एरिक ब्रगेंज़ा के मध्य प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में हॉयर इण्डिया नॉर्थ इण्डस्ट्रियल पार्क की स्थापना के सम्बन्ध में एम0ओ0यू0 पर हस्ताक्षर एवं दस्तावेज का आदान-प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर बटन दबाकर ग्रेटर नोएडा में हॉयर इण्डिया के प्रस्तावित औद्योगिक पार्क के 3डी मॉडल का अनावरण किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया की अच्छी कम्पनी के साथ राज्य सरकार का समझौता प्रदेश में औद्योगिक निवेश को एक नए गंतव्य की ओर ले जाएगा। हॉयर कम्पनी द्वारा ग्रेटर नोएडा में 3000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश करके 02 साल से भी कम समय में रेफ्रीजरेटर, वॉशिंग मशीन, टी0वी0 आदि का उत्पादन प्रारम्भ किया जाएगा। समझौते को कार्य रूप में बदलने के लिए प्रदेश सरकार की टीम को साधुवाद देते हुए उन्होंने कहा कि इस समझौते से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ‘मेक इन इण्डिया’ अभियान को भी नई गति मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने डेढ़ वर्ष के समय में सभी को बिना किसी भेदभाव के सुरक्षा का वातावरण सुलभ कराया है। इसके साथ ही, प्रदेश में निवेश आकर्शित करने के लिए फोकस सेक्टर्स को चिन्ह्ति कर नीतियां बनायी गई हैं। 21 व 22 फरवरी, 2018 को लखनऊ में सम्पन्न ‘यू0पी0 इन्वेस्टर्स समिट’ में लगभग 05 लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव हुए थे। 29 जुलाई, 2018 को प्रधानमंत्री जी द्वारा 60 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास ‘ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी’ के माध्यम से किया गया। निवेशकों को किसी भी परेशानी से बचाने के लिए सिंगल विण्डो सिस्टम भी क्रियाशील किया गया है। वर्तमान में उत्तर प्रदेश देश का सबसे अच्छा निवेश गंतव्य है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य में औद्यागिक विकास का नया युग शुरू हुआ है। मुख्यमंत्री ने निवेशकों और उद्यमियों के लिए हर सम्भव सहायता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए मुख्य सचिव डॉ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान सरकार के प्रयासों से उत्तर प्रदेश निवेश का ग्लोबल हब बन गया है। चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, अमेरिका आदि देशों की कम्पनियों उत्तर प्रदेश में उद्यम स्थापित करना चाहती हैं।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ग्लोबल एप्लायंसेज हॉयर ग्रुप के वाइस प्रेसिडेण्ट और हॉयर एप्लायंसेज इण्डिया के प्रबन्ध निदेशक साँग युजुन ने कहा कि भारत हॉयर ग्रुप का बड़ा मार्केट है। प्रदेश सरकार द्वारा हॉयर ग्रुप को अपने उद्यम की स्थापना हेतु उपलब्ध कराई जा रही मदद के लिए धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि हॉयर ग्रुप यहां के उपभोक्ताओं की आवश्यकताओं के अनुरूप उत्पाद तैयार करेगा।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close