NewsUttar Pradesh

उत्तर प्रदेश ATS के ASP राजेश साहनी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

उत्तर प्रदेश ATS के एडिशनल SP राजेश साहनी ने खुद को सर्विस रिवाल्वर से ऑफिस में बंद कमरे में गोली मार ली कारणों का पता नहीं।

सौरभ शुक्ला
लखनऊ। यूपी एटीएस के ASP राजेश साहनी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। ऐसा कहा जा रहा है कि उन्होंने एटीएस कार्यालय में ही खुद को गोली मार ली है। उनकी मौत की खबर से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। सूबे के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। इस मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, ASP राजेश साहनी राजधानी लखनऊ के गोमती नगर स्थित एटीएस मुख्यालय में थे। उन्होंने अपने ड्राइवर से अपनी सरकारी पिस्टल मंगाई। इसके कुछ देर बाद उन्होंने गोली मारकर खुदकुशी कर ली। मौके से कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हो पाया है। खुदकुशी के कारणों को पता नहीं चला है।

बताया जा रहा है कि राजेश साहनी साल 1992 में पुलिस सेवा में आए थे। वह साल 2013 में अपर पुलिस अधीक्षक के पद पर प्रमोट हुए थे। उनको एटीएस के तेज तर्रार अफसरों में गिना जाता था। अपराधियों में उनका जबरदस्त खौफ था। उन्होंने कई बड़े ऑपरेशन को सफलता से अंजाम दिया था। कई अपराधियों को गिरफ्तार किया था।

ISIS खुरासान मॉड्यूल का खुलासा करने वाले 1992 बैच के पीपीएस अधिकारी राजेश साहनी का नाम उत्तर प्रदेश पुलिस के बेहद काबिल अफसरों में शामिल था। बीते सप्ताह ही पिथौरागढ़ से आईएसआई एजेंट रमेश सिंह को गिरफ्तार करने में उन्होंने अहम भूमिका अदा की थी।

घटना के करीब एक घंटे बाद फॉरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंची। टीम मौके पर साक्ष्य जुटा रही है। घटनास्थल तक जांच टीम के अलावा किसी को जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। मीडिया को भी पूरी तरह प्रतिबंध किया गया है। जानकारी के मुताबिक, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर और आईजी एसटीएफ मौके पर पहुंच चुके हैं। उनके अलावा एसएसपी लखनऊ, डीआईजी लॉ एंड ऑर्डर भी मौके पर पहुंच चुके हैं।
पत्नी को नहीं हो रहा यकीन साहनी की मौत की खबर पाकर उनके परिवार वाले भी रोत-बिलखते एटीएस मुख्यालय पहुंचे। पत्नी को यकीन ही नहीं हो रहा है कि उनके बहादुर पति ने ये आत्मघाती कदम उठाया। वहीं, बच्चे भी पापा की मौत से सदमे में हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close