IndiaNewsPolitics

आधुनिक स्वरूप संग नेचर, कल्चर और एडवेंचर का संगम बनेगी काशी : PM नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को काशी को कई योजनाओं की सौगात देने के साथ ही काशी के विकास के लिए लोगों का भी आहवान किया है ताकि इसकी वैश्चिवक पहचान बने।

सौरभ शुक्ला
वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र से विकास के बहुआयामी मॉडल को देश के सामने पेश किया। काशी में नए भारत की बुलंद तस्वीर साकार करते हुए पहले की सरकारों को कठघरे में खड़ा किया। बोले, जो काम दशकों पहले हो जाना चाहिए था, अब हो रहा है। गंगा में वाराणसी से कोलकाता की जल परिवहन सेवा का लोकार्पण करने के बाद पीएम ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार नदी मार्ग को व्यापार और कारोबार के लिए सक्षम बनाया गया। देश की सामथ्र्य हमारी नदियों की शक्ति के साथ पहले की सरकारों ने अन्याय किया। भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र व अन्य प्रदेशों की सरकार देश के विकास के लिए काम कर रही हैं। वोट बैंक की राजनीति नहीं बल्कि विकास देखकर ही जनता वोट देती है।

इस अवसर पर वाजिदपुर में एक सभा को संबोधित प्रधानमंत्री ने कहा कि करीब-करीब 2400 करोड़ की ये परियोजनाएं बदलते बनारस की तस्वीर को और भव्य बनाएंगी। मोदी ने कहा कि यह बंदरगाह न्यू इंडिया का जीता-जागता सबूत है। यह इस बात का सबूत है कि देश की सामर्थ्य पर भरोसा किया जाता है। प्रधानमंत्री ने भोजपुरी में बनारसवासियों को दिवाली और छठ की बधाई देकर अपने भाषण की शुरुआत की। मोदी ने कहा कि आज जो परियोजनाएं शुरू हुई हैं उन्हें एक दशक पहले शुरू हो जाना चाहिए था पर पिछली सरकारों के रवैये के चलते ऐसा न हो सका।

प्रधानमंत्री दोपहर लगभग 3 बजे बाबतपुर हवाई अड्डे पर पहुंचे। यहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पांडेय ने उनका स्वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री हेलीकाप्टर से रामनगर बंदरगाह पहुंचे और यहां देश की पहली कंटेनर कार्गो सेवा की शुरुआत की। यह बंदरगाह गंगा नदी पर हल्दिया-वाराणसी जलपरिवहन परियोजना के तहत बनाया गया है। यह परियोजना सागरमाला प्रोजेक्ट का हिस्सा है। प्रधानमंत्री को वाराणसी के डॉक में पेप्सीको के कंसाइनमेंट के रूप में पहला कंटेनर वैसेल प्राप्त हुआ।

वाराणसी शहर से एयरपोर्ट के बीच हरहुआ के वाजिदपुर में सोमवार को सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने बदलते बनारस और भव्य और दिव्य बनाने का संकल्प दोहराया। अपने संसदीय क्षेत्र को 2412 करोड़ की 17 परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास का तोहफा देने के साथ ही काशी की बढ़ती महत्ता का गौरवगान किया। बोले, अब समूचा पूर्वांचल जलमार्ग के जरिए पूर्वी भारत और बंंगाल की खाड़ी से जुड़ गया है। वॉटर वेज की इस कनेक्टिविटी को बढ़ाकर प्रयागराज तक ले जाना है। बनारस से जल, थल और नभ की बढ़ी कनेक्टिविटी का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि आज मैं आनंदित और प्रफुल्लित हूं। चार साल पहले हल्दिया से बनारस के बीच जल परिवहन के जरिए कनेक्ट करने का विचार रखा तो नकारात्मक बातों से मेरा मजाक उड़ाया गया। उन आलोचकों को आज जवाब मिल गया। गंगा में जल परिवहन न्यू इंडिया के न्यू विजन का सबूत है। यह जलमार्ग सिर्फ सामान ढोने के काम ही नहीं आएगा बल्कि पर्यटन को बड़ा फायदा होगा और बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल सहित पूर्वी एशिया तक से क्रूज टूरिज्म बढ़ेगा। काशी नेचर, कल्चर और एडवेंचर का संगम स्थल बनेगी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close