IndiaNewsPolitics

आतंकी मसूद अजहर ने राम मंदिर को लेकर एक धमकी भरा जारी किया ऑडियो टेप, दी धमकी

जैश-ए-मुहम्मद सरगना मसूद अजहर ने राम मंदिर को लेकर एक धमकी भरा टेप जारी कर कहा है कि अगर राम मंदिर बना तो दिल्ली से काबुल तक तबाही मचा देंगे।

अजीत राय भट्ट
नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर को लेकर जहां तमाम गतिविधियां तेज हैं, मंदिर बनाने को लेकर संत समाज,विहिप और शिवसेना का सरकार पर प्रेशर बना रही हैं वहीं इसका लेकर विरोध भी जारी है इस सबके बीच जैश-ए-मुहम्मद के सरगना कुख्यात आतंकी मसूद अजहर ने राम मंदिर को लेकर एक धमकी भरा ऑडियो टेप जारी किया है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक इसमें धमकी दी गई है कि राम मंदिर बना तो दिल्ली से काबुल तक तबाही मचा देंगे।

अजहर ने नौ मिनट के इस टेप में धमकी देते हुए कहा कि अगर अयोध्या में कथित बाबरी मस्जिद के स्थान पर राम मंदिर बनता है, तो दिल्ली से काबुल तक मुस्लिम लड़के बदला लेने को तैयार हैं। उसने कहा, हम लोग पूरी तरह से तबाही फैलाने करने के लिए तैयार हैं।

आतंकी सरगना ने कहा, अयोध्या में ढांचे को हमारी कमजोरी की वजह से तोड़ा गया और वहां पर मंदिर बना ली गई। इन दिनों बड़ी संख्या में गैर मुस्लिम वहां जमा हुए हैं और राम मंदिर के निर्माण की मांग कर रहे हैं। जबकि मुस्लिम भयभीत हैं। टेप में साथ ही अजहर ने अपील की कि विवादित जमीन मुस्लिम समुदाय को दे दी जाए। नहीं तो हम कुर्बानी देने को तैयार हैं।

मसूद ने दावा किया कि काबुल और जलालाबाद में भारतीय संस्थानों को जैश ने ही निशाना बनाया था। इतना ही नहीं इस ऑडियो में अजहर ने करतारपुर कॉरिडोर के बारे में भी टिप्पणी की। उसने पाक सरकार की ओर से भारत को न्योता देने पर नाराजगी जताई। इस टेप में अजहर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के खिलाफ भी जहर उगला और कहा कि अयोध्या में हो रही गतिविधि चुनाव के कारण बढ़ी है।

गौरतलब है कि 1999 में एयर इंडिया के हाईजैक विमान को छोड़ने के एवज में भारत सरकार ने मसूद अजहर को रिहा किया था। तब से वह भारत में उरी सहित कई हमलों को अंजाम दे चुका है। भारत संयुक्त राष्ट्र से उसे आतंकी घोषित कराने का प्रयास कर रहा है, जिसमें चीन रोड़ा अटका रहा है। अजहर अप्रैल 2016 से ही पाकिस्तान में खुला घूम रहा है।

एनआईए ने नगरोटा में सेना के शिविर पर हमला मामले में मौलाना मसूद अजहर के भाई मौलाना अब्दुल रऊफ असगर समेत 13 अन्य लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। जम्मू कश्मीर के नगरोटा में एक आर्मी कैंप में नवंबर 2016 में हमला हुआ था। भारत संयुक्त राष्ट्र से उसे आतंकी घोषित कराने का प्रयास कर रहा है, जिसमें चीन रोड़ा अटका रहा है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close