NewsUttar Pradesh

आईपीएस रवीना त्यागी कानपुर साउथ को अपराधियों से कराएंगी मुक्त

आईपीएस रवीना त्यागी की जिनकी आज ही पोस्टिंग हुई है कानपुर एसपी साऊथ के पद पर, इस महिला आईपीएस से थर-थर कांपते हैं अपराधी।

हिमानी बाजपेई शुक्ला
कानपुर नगर। कानपुर दक्षिण की नवनियुक्त एसपी साऊथ यानी कि आईपीएस रवीना त्यागी एक तेज-तर्रार अफसर है वो जहाँ भी रही वहाँ उन्होंने तहलका मचा दिया जब सूबे में योगी सरकार बनी तो उन्होंने बरेली में एंटी रोमियो स्क्वॉयड टीम को लीड किया कभी वदी तो कभी जींस-शर्ट पहनकर बाइक पर सवार होकर सह लेडी सिंघम अपराधियों पर नकेल कसने के लिए निकल पड़ती है। लड़कियों को सताने वाले मनचलों को देख उन्हें बीच सड़क पर डंडे पिटाई कर सलाखों के पीछे पहुंचाती हैं। कोई कितना रसूख वाला क्यों न हो पर गैरकानूनी कार्य करते हुए पाया गया तो उसे वह छोड़ने के बजाए सीधे जेल भेज देती हैं। IPS ऑफिसर रवीना त्यागी, मोदी की है फैन..

2014 बैच की हैं IPS
रवीना त्यागी 2014 बैच की आईपीएस हैं। उनका जन्म भोपाल में 11 नवंबर 1987 में हुआ था। महर्षि विद्या मंदिर भोपाल से पढाई की, 12 वीं के बाद उन्होंने इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएं दी, इसके बाद जेपी इंस्टीटयूट ऑपफ इन्फोर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी नोएडा से बीटेक बायोटेक्नोलॉजी में किया है। बीटेक के बाद कुछ दिन ज्वाइन करने के बाद सिविल की तैयारी की, 2014 में उनकी सिविल सर्विसेज में उनकी 170 वीं रैंक थी। वे यूपी कैडर की आईपीएस अधिकारी हैं। उनकी पहली पॉस्टिंग एएसपी के पद पर मुरादाबाद में हुई, अब वे आगरा में पोस्टेड हैं। देररात सरकार ने 36 अफिसरों के ट्रांसफर कर दिए और रवीना की नई तैनाती कानपुर साउथ में की गई। रवीना के कानपुर आने से लोग खासे खुश हैं। साउथ में अपराध और मनचलों का आंतक है। रवीना के आने के बाद कुछ हद तक लगाम कसने की उम्मीद है।

एंटी रोमियो से आई सुर्खियों में
आईपीएस अधिकारी रवीना त्यागी ने स्कूल, कॉलेज, पार्क और सार्वजनिक स्थलों पर युवतियों के साथ छेडछाड और टिप्पणी करने वालों के खिलाफ बडा अभियान चलाया। उन्होंने बरेली में एंटी रोमियो स्क्वाइड से छेडछाड करने वाले युवकों को सबक सिखाया था और सुर्खियों में रहीं।

ये है फैमिली बैकग्राउंड… 
रवीना मुजफ्फनगर से हैं और उन्‍होंने अपने ताऊजी सत्यपाल त्यागी के पास रहकर पढ़ाई पूरी की है। उनके पिताजी भी भारतीय वन सेवा (IFS)के अधिकारी हैं।

इस बात के लिए PM मोदी की हैं फैन-
पीएम नरेंद्र मोदी ने जब बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा दिया तो वो बात रवीना को बहुत पसंद आई और वो उनकी फैन हो गईं। वे इसी रास्ते पर चलना पसंद करती हैं। उनका लक्ष्‍य समाज की बेटियों को आगे ले जाना है। 

एंटी रोमियो से आई सुर्खियों में रवीना प्यागी
आईपीएस अधिकारी रवीना त्यागी ने स्कूल, कॉलेज, पार्क और सार्वजनिक स्थलों पर युवतियों के साथ छेडछाड और टिप्पणी करने वालों के खिलाफ बडा अभियान चलाया। उन्होंने बरेली में एंटी रोमियो स्क्वाइड से छेडछाड करने वाले युवकों को सबक सिखाया था और सुर्खियों में रहीं।रेली में एंटी रोमियो स्क्वॉयड टीम को लीड कर रही लेडी आईपीएस खुद मनचलों का एकबार शिकार हो गई थीं। लड़कियों की शिकायत पर बरेली कॉलेज के बाहर खड़े लड़के से जब पूछताछ करना शुरू किया तो लड़कों ने मुंह पर सिगरेट का धुआं फूंक दिया। फिर उसके बाद जो कुछ हुआ वह वही लड़के ही जानते हैं। पुलिस ने मनचलों को हिरासत में लिया है। इसके बाद आईपीएस रवीना त्यागी ने शुरू कर दी पूरे बरेली में छापेमारी । बरेली में हाल था कि इस महिला आईपीएस के नाम से ही रोमियो डर के मारे अपना रास्ता बदल लेते थे।

यू ट्यूब पर दोस्त के साथ मिलकर चलाया चैनेल
इसके लिए वो और उनके एक दोस्त आईआरएस गौरव गर्ग मिलकर एक यू ट्यूब चैनेल चलाया, इसमें वो Civil Services aspirants(सिविल सेवा उम्मीदवार) की मदद करती थीं। हर किसी ने इस इनके इस कदम की तारीफ की थी। ये चैनल शुरू करने के पीछे वहज ये थी कि गौरव गर्ग ने छठी बार में सिविल एग्जाम पास किया था। इसीलिए उन्होंने ये चैनेल शुरू करने की सोची, ताकि Civil Services aspirants को मदद मिल सके। इस काम में उनकी हेल्प आईपीएस रवीना त्यागी ने की थी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Close